खैरागढ़ उपचुनाव में कांग्रेस की यशोदा वर्मा को मिली बड़ी जीत, अब तीन हिस्सों में बांटेगा राजनांदगांव

1 min read

रायपुर/ राजनांदगांव. छत्तीसगढ़ के खैरागढ़ विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस की यशोदा वर्मा को बड़ी जीत मिली है. यशोदा वर्मा ने 20 हजार से भी अधिक वोटों से जीत हासिल की है. बीजेपी के कोमल जंघेल से यशोदा वर्मा का सीधा मुकाबला हुआ. 10 प्रत्याशियों में से कोमल जंघेल दूसरे नंबर पर रहे. खैरागढ़ विधानसभा उप चुनाव के लिए 12 अप्रैल को संपन्न हुए मतदान की प्रक्रिया के बाद अब 16 अप्रैल को मतगणना हुई है. मतगणना का कार्य सुबह 8 बजे से राजनांदगांव शहर के बीज निगम कार्यालय परिसर में हुआ. राजनांदगांव जिला निर्वाचन अधिकारी तारन प्रकाश सिन्हा ने कहा कि कड़ी सुरक्षा के बीच सुबह 8 बजे से 14 टेबल के माध्यम से मतगणना की गई. मतगणना केंद्र के भीतर मोबाइल फोन अथवा किसी भी प्रकार की इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस ले जाने की अनुमति नहीं है और पास धारियों को ही प्रवेश दिया जा रहा है.

खैरागढ़ विधानसभा मे कुल मतदाताओं की संख्या 211540 हैं, जिसमें पुरुष मतदाता 106290 एवं 105250 महिला मतदाता हैं. यहां 77.84% मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया है,जिसमें 78.92 पुरुष मतदाता और 77.74 महिला मतदाताओं ने मतदान किया है. शनिवार 16 अप्रैल की सुबह अभ्यर्थियों और अब्जर्वर की उपस्थिति में स्ट्रांग रूम खोला गया. सुबह 8 बजे मतगणना स्थल पर पहले डाक मतपत्रों की गणना की जाएगी. इसके बाद इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन के माध्यम से हुए मतदान की गणना होगी. मतगणना के लिए प्रत्येक टेबल पर दो गणना अधिकारी के साथ एक माइक्रो ऑब्जर्वर की नियुक्ति की गई है. 14 टेबल के माध्यम से लगभग 21 राउंड में मतगणना का कार्य देर शाम तक पूर्ण होने का अनुमान लगाया जा रहा है, लेकिन दोपहर तक जनादेश की स्थिति स्पष्ट होने लगेगी.

10 प्रत्याशी की दांव पर लगी किस्मत
जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे से विधायक व खैरागढ़ रियासत के राजा देवव्रत सिंह के निधन के बाद खाली सीट पर विधायक बनने के लिए 10 प्रत्याशी उपचुनाव के मैदान में थे. हालांकि सीधा मुकाबला कांग्रेस की यशोदा नीलांबर वर्मा और बीजेपी के कोमल जंघेल के बीच ही माना जा रहा था. परिणाम भी उसी के अनुसार आए. कांग्रेस प्रत्याशी को बड़ी जीत मिली.

खैरागढ़ को जिला बनाने की तैयारी शुरू, अफसरों को दिया जा रहा है निर्देश

खैरागढ़ विधानसभा उपचुनाव के शुरुआती रुझान आने के साथ ही नया जिला बनाने की प्रशासनिक तैयारी शुरू हो गई है। बताया जा रहा है कि सरकार ने सामान्य प्रशासन और राजस्व विभाग के अफसरों को रविवार को भी काम पर बुला लिया है। कोशिश हो रही है कि शाम तक जिला गठन का शुरुआती नोटिफिकेशन जारी कर दिया जाए। इसमें नए जिले की सीमा आदि पर दावा-आपत्ति भी मंगाने की प्रक्रिया भी शामिल होगी।

खैरागढ़ उपचुनाव में कांग्रेस ने बकायदा घोषणापत्र जारी किया था। इसमें पहला ही वादा नए जिले का था। इस जिले का नाम ‘खैरागढ़-छुईखदान-गंडई’ होने वाला है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अपने चुनावी जनसभाओं में यह वादा बार-बार दोहराते रहे हैं। उन्होंने यहां तक कह दिया था, 16 अप्रैल को खैरागढ़ में कांग्रेस का विधायक बनेगा और 17 अप्रैल को ‘खैरागढ़-छुईखदान-गंडई’ नया जिला बन जाएगा। कांग्रेस का पूरा प्रचार अभियान इस जिले के इर्द-गिर्द केंद्रित रहा।

अब जब यह साफ हो चला है कि कांग्रेस उम्मीदवार यशोदा वर्मा की जीत के सामने बड़ी चुनौती नहीं बची है, सरकार पर वादे को समयबद्ध ढंग से पूरा करने का दबाव है। वैसे कांग्रेस नेताओं का कहना है, इस मामले में सरकार ने अधिकारियों के साथ बैठक कर नए जिले की सीमा आदि पर पहले ही चर्चा कर ली है। 24 घंटे के भीतर जिला बनाने का वादा था। जीत की औपचारिक घोषणा के 24 घंटे के भीतर यह वादा पूरा कर दिया जाएगा।

कैसे बनता है कोई नया जिला
नए जिले के गठन का अधिकार पूरी तरह राज्य सरकार के पास होता है। वह किसी क्षेत्र को नया जिला घोषित कर सकती है। सामान्य तौर पर इसे एक कार्यकारी आदेश के जरिए गठित किया जाता है। शुरुआत में प्रस्तावित जिले की सीमाओं आदि विवरण के साथ राजपत्र में अधिसूचना प्रकाशित होती है। इसपर नागरिकों से दावा-आपत्ति मंगाया जाता है। इसकी सुनवाई के बाद जिला गठन की अधिसूचना जारी होती है।

तीन हिस्सों में बंट जाएगा राजनांदगांव
खैरागढ़-छुईखदान-गंडई के नया जिला बनने से पुराना राजनांदगांव जिला तीन हिस्सों में बंट जाएगा। इसी जिले में एक नया जिला मोहला-मानपुर-चौकी भी प्रस्तावित है। बताया जा रहा है, अभी राजनांदगांव जिले का क्षेत्र 8 हजार 70 वर्ग किलोमीटर है। प्रस्तावित मोहला-मानपुर-चौकी जिले में अम्बागढ़ चौकी, मोहला और मानपुर तहसीलें चली जाएंगी। वहीं खैरागढ़-छुईखदान-गंडई जिले में खैरागढ़ और छुईखदान तहसीलों के साथ डोंगरगढ़ तहसील का भी कुछ हिस्सा शामिल हो सकता है। मूल राजनांदगांव जिले में चार तहसीलें राजनांदगांव, डोंगरगढ़, डोंगरगांव और छुरिया शामिल रहेंगी।

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.