गोवा के अस्पताल में रात 2 बजे से सुबह 6 बजे के बीच हुई मौत का क्या है रहस्य? स्वास्थ्य मंत्री ने हाई कोर्ट से की जांच की मांग

1 min read

गोवा मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में 26 कोरोना मरीजों की मौत पर गोवा के स्वास्थ्य मंत्री ने सवाल उठाए हैं. गोवा के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे के मुताबिक 26 कोरोना मरीजों की राज्य के गोवा मेडिकल कॉलेज और अस्पताल (जीएमसीएच) में मौतें रात 2 बजे से सुबह 6 बजे के बीच हुई है.

गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने गोवा मेडिकल कॉलेज और अस्पताल का दौरा किया और कहा की मेडिकल ऑक्सीजन की उपलब्धता और GMCH में COVID-19 वार्डों को इसकी आपूर्ति के बीच का अंतर रोगियों के लिए कुछ मुद्दों का कारण हो सकता है. राज्य में ऑक्सीजन की आपूर्ति की कमी नहीं है. सीएम प्रमोद सावंत ने कहा कि राज्य में मेडिकल ऑक्सीजन और सिलेंडर की कोई कमी नहीं है लेकिन समस्या कभी-कभी पैदा होती है क्योंकि ये सिलिंडर समय पर अपने गंतव्य तक नहीं पहुंचते हैं.

स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे ने 10 मई तक GMCH में मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति में कमी को स्वीकार किया और कहा कि, हाई कोर्ट को इन मौतों के पीछे के कारणों की जांच करनी चाहिए. HC को भी हस्तक्षेप करना चाहिए और GMCH को ऑक्सीजन की आपूर्ति पर एक श्वेत पत्र तैयार करना चाहिए. जो चीजों को सही तरीके से स्थापित करने में मदद करेगा.

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि, 10 मई तक मेडिकल ऑक्सीजन की आवश्यकता 1,200 जंबो सिलिंडरों की थी, जिनमें से केवल 400 की आपूर्ति की गई थी. उन्होंने कहा, “अगर मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति में कोई कमी है, तो उस खाई को कैसे पाटा जाए, इस बारे में चर्चा होनी चाहिए.”

गौरतलब है कि गोवा में कोरोना की वजह से मौत आंकड़ा 1805 हो गया जिसमे से 600 से अधिक मौते 1 मई से 11 मई के बीच हुई है.

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.