कोरोना बढ़ाने के लिए देश के ये 6 राज्य हैं जिम्मेदार, इस साल आए 22 हजार से ज्यादा मामले

देश में पिछले साल की तरह इस साल भी मार्च के महीने में कोरोना वायरस महामारी के मामलों में बढ़ोतरी देखने को मिल रही है. आलम यह है कि अब हर दिन कोरोना के मामले पिछले रिकॉर्ड को तोड़ रहे हैं. आज करीब ढाई महीनों बाद देश में कोरोना के 22 हजार से ज्यादा नए मामले दर्ज किए गए हैं. ये इस साल कोरोना के मामलों में सबसे ज्यादा बढ़ोतरी है. पिछले 24 घंटों में 22 हजार 854 मामले सामने आए वहीं 126 लोगों की जान चली गई.

स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़े के मुताबिक, देश में बीते दिन 18 हजार 100 लोग कोरोना से ठीक हुए हैं. अब देश में कोरोना के कुल मामले बढ़कर एक करोड़ 12 लाख 85 हजार 561 हो गए हैं. इनमें से एक लाख 58 हजार 189 लोगों की जान जा चुकी है. हालांकि एक करोड़ 9 लाख 38 हजार 146 लोग कोरोना को मात देकर ठीक भी हो चुके हैं. देश में अब एक्टिव केस की संख्या बढ़कर 1 लाख 89 हजार 226 हो गई है यानी कि इतने लोग अभी कोरोना संक्रमित हैं.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि महाराष्ट्र, पंजाब, कर्नाटक, गुजरात, तमिलनाडु और केरल समेत देश के 6 राज्यों में कोरोना के दैनिक मामलों की बढ़ोतरी दर्ज हो रही है. पंजाब, कर्नाटक, गुजरात और तमिलनाडु में कोरोना को लेकर स्थिति चिंताजनक है, वहीं केरल और महाराष्ट्र में स्थिति बहुत खतरनाक बनी हुई है. करीब 86 फीसदी मामले केवल इन 6 राज्यों के हैं. गंभीर होती स्थितियों को देखते हुए मंत्रालय ने महाराष्ट्र और पंजाब में उच्च स्तरीय टीमें भी तैनात की हैं.

महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा नए मामलों के आने का सिलसिला जारी है और इस राज्य में 13 हजार 659 और मामले दर्ज किए गए. इसके बाद केरल में 2,316 और पंजाब में 1,027 नए मामले सामने आए. मंत्रालय के मुताबिक एक दिन में इस महामारी से 133 और मरीजों की मौत हुई है और मौत के 77.44 फीसदी मामले पांच राज्यों में दर्ज किए गए हैं. महाराष्ट्र में एक दिन में सबसे अधिक 56 मरीजों की मौत हुई. इसके बाद पंजाब में 20 और केरल में 16 मरीजों की मौत हुई.

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.