ईमानदारी मिसाल : ड्राइवर नहीं चुका पा रहा था ऑटो की किश्त फिर भी नहीं डिगा ईमान, 14 लाख कैश और सोने से भरा बैग लौटाया

मुंबई. एक ऑटोरिक्शा ड्राइवर ने ईमानदारी का परिचय देते हुए 14 लाख के नकद और सोने से भरे बैग को वापस लौटाया है. इफ्तिखार शेख (40) ने ऑटो खरीदने के लिए लोन लिया था और लॉकडाउन के कारण वह उसे चुका नहीं पा रहा था फिर भी उसका ईमान नहीं डिगा. उसने ईमानदारी की मिसाल पेश की है जिसके लिए पुलिस ने उसे सम्मानित भी किया है.

रविवार को इफ्तिखार के ऑटो में एक महिला नाजनीन शेख ने काशीमीरा हाईवे तक सवारी की थी. नाजनीन को वहां से गुजरात के लिए बस पकड़नी थी. नाजनीन को छोड़ने के बाद इफ्तिखार ने घर लौटने से पहले कुछ लोगों को ऑटो से दूसरी जगह छोड़ा.

दूसरे दिन ऑटो को साफ करने के दौरान मिला बैग
अगले दिन जब वह अपने ऑटो को साफ कर रहा था जब उसे पैसेंजर सीट के पीछे एक बैग मिला. बैग में नकदी और जेवर थे. इफ्तिखार तुरंत काशीमीरा पुलिस थाने पहुंचा और बैग पुलिस को सौंप दिया. उसने रविवार को अपने ऑटो में सवारी करने वाले यात्रियों की डिटेल पुलिस को दी लेकिन यह नहीं पता था कि बैग किसका है.

मोबाइल के आधार पर पुलिस ने मालिक का पता लगाया
पुलिस को बैग में एक सेलफोन मिला जिससे नाजनीन का पता लगाया गया. नाजनीन ने बैग के गायब होने के कारण गुजरात नहीं गई और उसने ऑटो ड्राइवर की तलाश भी की लेकिन पुलिस के पास नहीं गई थी. पुलिस ने उसकी डिटेल्स को वैरीफाई किया और उसे 14 कीमत का सोना और नकदी लौटा दी. इफ्तिखार को भी नाजनीन को वैरीफाई करने के लिए बुलाया गया.

अक्टूबर से नहीं चुका पाया है ऑटो की किस्त
पुलिस को इसी दौरान पता चला कि इफ्तिखार ने ऑटोरिक्शा खरीदने के लिए लोन लिया है और लॉकडाउन के दौरान उसका कार्य प्रभावित हुआ और वह अक्टूबर से ऑटो की मासिक किश्तें नहीं चुका पा रहा है. इफ्तिखार ने पुलिस को बताया कि वह पैसे बचाने और लोन चुकाने के लिए ओवरटाइम कर रहा था. पुलिस ने उसकी ईमानदारी के लिए उसे सम्मानित भी किया है. इफ्तिखार ने कहा कि वह ईमानदारी के सिद्धांत पर चलता है और इसका हमेशा पालन करता है.

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.