सड़क सत्याग्रह : किसानों के समर्थन में सड़क पर उतरे कांग्रेसी, तीन काले कानून वापस लेने की मांग दोहराई

1 min read

बिलासपुर. भारतीय राष्ट्रीय किसान संगठन के आव्हान पर 6 फरवरी को संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा नेहरू चौक में दोपहर 12.00 बजे से दोपहर 3.00 बजे तक ” सड़क सत्याग्रह ” किया गया। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के आव्हान पर और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के निर्देश पर जिला शहर कांग्रेस कमेटी ने भी ” सड़क सत्याग्रह ” को अपना समर्थन दिया । इस आंदोलन को समर्थन देने आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता भी शामिल हुए। आंदोलन को समर्थन देने विधायक शैलेश पांडे, महापौर रामशरण यादव और अन्य कांग्रेसी नेता धरना स्थल पर नजर आए। ज़िला शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष प्रमोद नायक ने बताया कि केंद्र सरकार के तीन कृषि बिल को वापस लेने की मांग को लेकर किसान ढाई माह से दिल्ली सहित देश के अलग-अलग प्रान्तों में आंदोलनरत है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा ने अपनी घोषणा पत्र में स्वामी नाथन कमेटी को लागू करने का वादा किया। 2022 में किसानों की आय दुगुनी करने की बात कर रही है पर आय दुगुनी कैसे होगी ? इस पर मौन साध रखा है। नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार सुनियोजित ढंग से किसान, मजदूर, लघु – मध्यम उद्योग, गरीब जनता, महिला आदिवासी, अनुसूचित जाति, वृद्ध, मध्यम, निम्न आय वालों को टारगेट कर रही है। नोटबन्दी, जीएसटी, लॉकडाउन इनका उदाहरण है। किसान बिल से देश में किसान मजदूर हों जाएंगे। बेरोजगारी बढ़ेगी, आधी आबादी भूखे पेट सोने को मजबूर होगी। देश का भविष्य ही संकट में पड़ सकता है। इसलिये कांग्रेस ने अन्नदाताओं के समर्थन में अन्नदाताओं के मान सम्मान और देश को बचाने के लिए समर्थन देती रहेगी । प्रमोद नायक ने कहा कि किसानों के समर्थन में सभी निर्वाचित जनप्रतिनिधि, विधायकगण, महापौर, ज़िला पंचायत अध्यक्ष, कांग्रेस के प्रदेश पदाधिकारी, चारों ब्लाक कांग्रेस कमेटी, सेवा दल, कांग्रेस पार्षद दल, महिला कांग्रेस, युवा कांग्रेस, एनएसयूआई, किसान कांग्रेस सहित सभी मोर्चा, अनुषांगिक संगठन के पदाधिकारी सड़क सत्याग्रह में शामिल हुए।

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.