एक शेरनी सौ लंगूर, भाजपा रहेगी सत्ता से दूर : रिजवी

1 min read

File Photo

रायपुर. जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के मीडिया प्रमुख, मध्यप्रदेश पाठ्यपुस्तक निगम के पूर्व अध्यक्ष, पूर्व उपमहापौर तथा वरिष्ठ अधिवक्ता इकबाल अहमद रिजवी ने कहा है कि पश्चिम बंगाल का चुनाव भाजपा के लिए वाटरलू सिद्ध होगा। देश के धनाढ्य उद्योगपतियों के सहयोग से भाजपा को धन की कमी नहीं आऐगी परन्तु पैसा ही चुनाव नहीं जिता सकता। ऐसा होता तो अम्बानी एवं अडाणी स्वयं एवं उनके प्यादे लोकसभा एवं राज्यसभा बहुत पहले पहुंच चुके होते। बंगाल की जनता जागरूक है वह निजीकरण के भाजपाई खलमंडल के झांसे में आने वाली नहीं और न ही असदउद्दीन ओवैसी व पीरजादा अब्बासी जैसे वोट कटवा दलों को वोट देकर बंगाल के सेकुलर माहौल को खंडित नहीं होने देगी। ममता दीदी को चोट पहुंचाकर बंगाल में एक घायल शेरनी का जन्म हुआ है। उसे कमजोर करने के लिए सौ तो क्या हजार लंगूर भी ममता का कुछ बिगाड़ नहीं पाऐंगे।  रिजवी ने महसूस किया है कि टी.एम.सी. से पद और पैसे का लालच देकर कुछ दल बदलुओं के सहारे भाजपा सत्ता की वैतरणी कदापि पार नहीं कर सकेगी। भाजपा टिकट वितरण से नाराज पुराने कार्यकर्ता चुप बैठने वाले नहीं है और चुनाव में ममता बेनर्जी को सत्ता दिलाने में अप्रत्यक्ष रूप से पूरा सहयोग करेंगे।  रिजवी ने कहा है कि प्रत्येक परिवार के खाते में 15 लाख रूपया तथा हर वर्ष 2 करोड़ बेरोजगार शिक्षित युवाओं को नौकरी देने का वादा बंगाल की जनता को भलीभांति याद है। वही शिक्षित  बेरोजगार भाजपा को पराजित करने में सक्रिय भूमिका निभाने आतुर है। भाजपा 6 वर्षों तक बंगाल से दूर रही, अब केवल बंगाल जीतने की मृगतृष्णा के कारण भाजपा ने एक महिला के विरूद्ध पुरूष नेताओं की लम्बी कतार खड़ी कर दी है। बंगाल के मतदाता टी.एम.सी. को जिताने कृत संकल्पित है। भाजपा मतदाताओं को आकर्षित करने तरह-तरह की बंगाल के देशभक्त महापुरूषों का नाम लेकर एवं हुलिया बनाकर थोथा प्रचार मतदाताओं को गुमराह करने के षड़यंत्र में संलिप्त है। परन्तु भाजपाई वादे, झांसे तथा गुमराह करने की नौटंकी काम आने वाली नहीं है।

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.