किसी भी राज्य ने तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग नहीं की : नीति आयोग

नई दिल्ली. नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल की छठी बैठक करीब सात घंटे चली. इस बैठक के खत्म होने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में नीति आयोग के उपाध्यक्ष उपाध्यक्ष राजीव कुमार और सीईओ अमिताभ कांत ने मीडिया को संबोधित किया. राजीव कुमार ने कहा कि किसी भी राज्य ने तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग नहीं की.

पंजाब, पश्चिम बंगाल, गुजरात और तेलंगाना के मुख्यमंत्रियों ने इस बैठक में हिस्सा नहीं लिया. इनकी जगह इन राज्यों से किसी और मंत्री ने भी हिस्सा नहीं लिया क्योंकि नियम और परंपरा के अनुसार केवल मुख्यमंत्री हिस्सा ले सकते हैं.

राजीव कुमार ने कहा कि नीति आयोग की बैठक में 6 चीजों पर फोकस किया गया जिसमें भारत को एक विनिर्माण हब बनाना, कृषि में सुधार, भौतिक इंफ्रास्ट्रक्चर में सुधार, मानव संसाधन विकास में तेजी लाना, जमीनी स्तर पर सेवाएं उपलब्ध कराना, स्वास्थ्य और पोषण शामिल हैं.

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए नीति आयोग की 6वीं गवर्निंग काउंसिल की बैठक की अध्यक्षता की. पीएम मोदी ने अपने समापन भाषण में राज्यों के मुख्यमंत्रियों से कहा कि एक संतुलित विकास होना चाहिए. आयात को कम करने का उपाय करें. पोषण अभियान में तेज़ी लाए जाए. मूल शिक्षा के लिए मिशन के तहत काम किया जाए. हम अगर कोरोना के खिलाफ लड़ाई जीत सकते हैं तो टीबी के खिलाफ भी 2025 तक लड़ाई जीत सकते हैं. इसके साथ ही उन्होंने कोरोना के खिलाफ लड़ाई के लिए सभी राज्यों को बधाई दी.

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.