मोंटी पनेसर का दावा- इंग्लैंड से अगला टेस्ट हारी इंडिया तो कप्तानी छोड़ देंगे विराट

1 min read

चेन्नई टेस्ट मैच में इंग्लैंड के हाथों मिली करारी हार के बाद से भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली आलोचकों और क्रिकेट फैंस के निशाने पर हैं. इंग्लैंड के पूर्व स्पिनर मोंटी पनेसर के अनुसार अगर विराट इंग्लैंड के खिलाफ ये सीरीज हार जाते हैं तो उनकी कप्तानी भी छीनी जा सकती है. उन्होंने कहा कि विराट की जगह रहाणे को कप्तान बनाया जाना चाहिए जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया में मुश्किल हालत में भी शानदार तरीके से टीम का नेतृत्व किया था. गौरतलब है कि, कोहली की कप्तानी में भारतीय क्रिकेट टीम लगातार चार टेस्ट मैच हार चुकी है.

कोहली पर है भारी दबाव

पनेसर ने कहा कि, चेन्नई में हार के बाद कोहली खुद को बेहद दबाव में महसूस कर रहे होंगे. उन्होंने कहा कि, “मुझे लगता है कि कोहली अभी और दबाव में होंगे. ये उनके लिए एक बेहद अहम सीरीज है. यदि विराट इंग्लैंड के खिलाफ शनिवार से शुरू होने वाला दूसरा टेस्ट मैच भी हार जाते हैं उन्हें कप्तानी से इस्तीफा दे देना चाहिए. अगर ऐसा होता है तो भारत इस सीरीज में 2-0 से पीछे हो जाएगा और ऐसे में उन्हें कप्तान बदल देना चाहिए. कोहली को किसी भी हाल में अगला मैच जीतना या कम से कम ड्रॉ कराना होगा. अगर ऐसा नहीं होता है तो कप्तान के तौर पर ये उनका आखिरी मैच हो सकता है.”

कोहली की कप्तानी में मिल चुकी हैं लगातार चार हार

भारत को चेन्नई में मंगलवार को इंग्लैंड के खिलााफ 227 रन की हार मिली और इससे पहले, भारत को एडिलेड, क्राइस्टचर्च और वेलिंगटन में भी कोहली की कप्तानी में हार का सामना करना पड़ा था. इंग्लैंड के लिए 50 टेस्ट मैच खेल चुके मोंटी पनेसर ने कहा, “विराट कोहली अब तक के सबसे महान बल्लेबाजों में से एक हैं. लेकिन टीम अब उनकी कप्तानी में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर रही है और हमारे पास कोहली की कप्तानी में खेले गए भारत के अंतिम चार टेस्ट मैचों के परिणाम हैं. मुझे लगता है कि कोहली अभी और दबाव में होंगे, क्योंकि रहाणे ने कप्तान के रूप में शानदार प्रदर्शन किया है.”

नदीम को खिलाना था गलत फैसला

पनेसर ने पहले टेस्ट मैच में कुलदीप यादव की जगह शहबाज नदीम को खिलाने को लेकर भी टीम प्रबंधन की कड़ी आलोचना की. उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि भारत की सोच कुछ ज़्यादा ही रक्षात्मक थी. उन्हें पहले टेस्ट में कुलदीप यादव को खिलाना था. उस पिच पर उन्हें नदीम की जगह खिलाया जाना चाहिए था. विराट को कुलदीप को ना खिलाना बेहद ही चौकाने वाला फैसला था. इस चाइनामैन गेंदबाज के खिलाफ इंग्लैंड खासी दिक्कतों का सामना कर सकता था.”

क्यों है कोहली आलोचकों के निशाने पर

कोहली की कप्तानी में भारत पिछले वर्ष न्यूजीलैंड दौरे पर गया था, जहां उसे दो मैचों की टेस्ट सीरीज में 0-2 से क्लीन स्वीप झेलना पड़ा था. इसके बाद हाल में ऑस्ट्रेलिया दौरे में एडिलेड में खेले गए पहले दिन-रात्रि टेस्ट में उसे आठ विकेट से पराजय मिली थी. हालांकि इसके बाद कोहली अपने पहले बच्चे के जन्म के चलते स्वदेश लौट गए थे और उनकी गैरमौजूदगी में अजिंक्य रहाणे ने टीम की कमान संभाली थी. रहाणे ने ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान तीन टेस्ट मुकाबलों में कप्तानी की थी, जिसमें भारत ने मेलबर्न टेस्ट जीता, जबकि सिडनी टेस्ट ड्रॉ रहा. इसके बाद ब्रिस्बेन में खेले गए अंतिम और चौथे मुकाबले में भारत को जीत मिली और उसने ऑस्ट्रेलिया को 2-1 से हराया था. इंग्लैंड के खिलाफ चार टेस्ट मैचों की सीरीज के लिए कोहली की टीम में वापसी हुई और भारत को उनकी कप्तानी में एक बार फिर हार का सामना करना पड़ा.

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.