ई-भगवत गीता का किंडल वर्जन लॉन्च करते हुए पीएम मोदी ने कहा- गीता हमें प्रेरणा देती है

1 min read

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज डिजिटल माध्‍यम से स्‍वामी चिदभवानंद की ई-भगवत् गीता का किंडल वर्जन लॉन्च किया है. इस अवसर पर पीएम मोदी ने आयोजित समारोह में देशवासियों को संबोधित भी किया. उन्होंने कहा, ‘युवाओं में ई-बुक्स बहुत फेसम होते जा रहे है. यह प्रयास गीता के विचार से ज्यादा से ज्यादा युवाओं को जोड़ेगा.’

पीएम मोदी ने भगवद गीता के किंडल वर्जन को लॉन्च करते हुए कहा, ‘गीता हमें सोचने पर मजबूर करती है. यह हमें सवाल करने के लिए प्रेरित करती है. यह बहस को प्रोत्साहित करती है और हमारे दिमाग को खुला रखती है. गीता से प्रेरित कोई भी व्यक्ति हमेशा स्वभाव से दयालु और स्वभाव से लोकतांत्रिक होगा.’

उन्होंने आगे कहा, ‘हाल के दिनों में जब दुनिया को दवाओं की जरूरत थी, भारत ने उन्हें प्रदान करने के लिए जो कुछ भी करना चाहिए था, वह किया. भारत इस बात पर अड़ा हुआ है कि दुनिया भर में मेड इन इंडिया के टीके चल रहे हैं. हम मानवता की मदद करने के साथ ही उन्हें स्वस्थ करना चाहते हैं. गीता हमें यही सिखाती है.’

आपको बता दें, स्‍वामी चिदभवानंद तमिलनाडु के तिरुचिरापल्‍ली स्थित श्री रामकृष्‍ण तपोवन आश्रम के संस्‍थापक हैं. उन्‍होंने साहित्‍य की विभ‍िन्‍न विधाओं में 186 किताबें लिखी हैं. भगवत् गीता पर मीमांसा उनकी प्रमुख कृतियों में शामिल है. तमिल भाषा में गीता पर उनकी टिप्पणी 1951 में और अंग्रेजी में 1965 में प्रकाशित हुई थी. इस किताब का तेलुगू, उड़िया, जर्मन और जापानी भाषाओं में भी अनुवाद किया जा चुका है.

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.