भूलकर भी ऐसे Reset न करें स्मार्टफोन, नहीं तो हो सकता है भारी नुकसान

1 min read

आजकल स्मार्टफोन हैंग होने की समस्या आम हो गई है और स्मार्टफोन के स्लो हो जाने या बार-बार हैंग हो जाने पर उसे Factory Reset करने की सलाह दी जाती है. किसी भी मोबाइल को factory reset करने का मतलब होता है कि उसमें मौजूदा सारा डाटा डिलीट हो जाता है. लेकिन factory reset करते समय कुछ बातों का ख्याल रखना बेहद जरूरी है वरना यह काफी नुकसानदायक साबित हो सकता है. मोबाइल फोन को सही तरीके से कैसे रिसेट करना चाहिए. आइए जानते हैं स्मार्टफोन को reset करते वक्त किन बातों का ख्याल रखना चाहिए.

डाटा हो जाएगा डिलीट
अपने स्मार्टफोन को फैक्ट्री रिसेट करने से पहले यह जान लें कि इससे आपके फोन का पूरा डाटा डिलीट हो जाएगा. डाटा के साथ फोन में मौजूदा एप्स, डाटा, सेटिंग्स, पासवर्ड सब कुछ डिलीट हो जाएगा. फैक्ट्री रिसेट के बाद आपका फोन ठीक वैसे ही हो जायेगा जैसे नया हो.

पूरा बैकअप लें
जब भी आप अपने स्मार्टफोन को फैक्ट्री रिसेट करें तो उससे पहले फोन के जरुरी डाटा का बैकअप ले लें. आप अपना डाटा किसी दूसरे स्मार्टफोन में या फोन को लैपटॉप से कनेक्ट कर के सेव कर सकते हैं. इसके अलावा आप अपना डाटा मैमोरी कार्ड में सेव कर लें. इसके बाद सेटिंग्स में जाकर अपने फोन का डाटा मैमोरी कार्ड में बैकअप के तौर पर सेव कर लें.

ऐसे करें फैक्ट्री रिसेट
याद रखें हर स्मार्टफोन का ऑपरेटिंग सिस्टम अलग होता है और इसलिए हर फोन को रिसेट करने की भी अलग-अलग सेटिंग होती है. इसलिए फोन कोरिसेट करने के लिए उसकी सेटिंग्स में जाएं, यहां जाकर प्राइवेसी या बैकअप एन्ड रिसेट ऑप्शन में जा कर फैक्ट्री रिसेट को सलेक्ट कर लें. इसके बाद रिसेट फोन को सलेक्ट कर लें. आपका फोन रिसेट हो जाएगा.

इन बातों का रखें ध्यान
ध्यान रहे कि बार-बार फोन को फैक्ट्री रिसेट करने से इंटरनल स्टोरेज पर गलत असर पड़ता है. इसलिए जब बहुत जरूरी हो तभी फैक्ट्री रिसेट करें. स्मार्टफोन अगर हैंग हो रहा है तो उसमें से गैर जरूरी ऐप्स को डिलीट कर दें.

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.