CBSE और ICSE की 12वीं की परीक्षा रद्द करने की मांग, सुप्रीम कोर्ट में 3 जून तक टली सुनवाई

1 min read

Class 12 Board Exam Hearing : CBSE और ICSE की 12वीं की परीक्षा रद्द करने की मांग पर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई. कोर्ट ने मामले की सुनवाई 3 जून तक के लिए टाल दी है. केंद्र की ओर से एटॉर्नी जनरल वेणुगोपाल ने कहा है कि सरकार 2 दिन में अंतिम फैसला ले लेगी. इसलिए सुनवाई गुरुवार के लिए टाल दी जाए. इस दिन हम कोर्ट को आखिरी फैसले से अवगत कराएंगे.

इस पर जज ने कहा, आप निर्णय लेने के लिए स्वतंत्र हैं. आप समय लीजिए. लेकिन अगर पिछले साल से कुछ अलग निर्णय लें तो उसकी उचित वजह होनी चाहिए. एटॉर्नी जनरल ने कहा, ‘पिछले साल लॉकडाउन से पहले कुछ पेपर हो चुके थे. तब परिस्थिति अलग थी.’ फिर जज ने कहा, ‘हम अभी विस्तार में नहीं जाना चाहते. आप पहले इस साल के लिए निर्णय लीजिए.’

इससे पहले 28 मई को हुई सुनवाई में कोर्ट ने याचिकाकर्ता से कहा था कि वह याचिका की कॉपी CBSE और ICSE के वकीलों को सौंपे ताकि वह जवाब दे सकें. याचिका में कहा गया है कि वर्तमान स्थिति परीक्षा के आयोजन के हिसाब से सही नहीं है. लेकिन अगर परीक्षा को टाला गया तो परिणाम देर से आएंगे. इसका असर छात्रों की आगे की पढ़ाई पर पड़ेगा. इसलिए, परीक्षा रद्द कर देनी चाहिए. छात्रों को अंक देने का कोई तरीका निकालना चाहिए. जिससे जल्द से जल्द रिजल्ट घोषित हो सके.

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.