कोरोना : पुणे में रात में आवाजाही पर रोक, 28 फरवरी तक स्कूल-कॉलेज को बंद रखने का फैसला

1 min read

(प्रतीकात्मक तस्वीर)

पुणे. महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते मामले के बीच उद्धव सरकार ने बड़ा फैसला लिया है. पुणे में रात 11 बजे से सुबह 6 बजे के बीच जरूरी सेवाओं को छोड़कर किसी तरह की आवाजाही पर रोक रहेगी. 28 फरवरी तक स्कूल और कॉलेज को बंद रखने का फैसला लिया गया है. ये गाइडलाइंस कल से लागू होंगी. वहीं शाम 7 बजे मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे भी लोगों को संबोधित करने वाले हैं.

महाराष्ट्र में लगातार दूसरे दिन शनिवार को कोविड-19 के 6000 से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं. स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, 6281 नए मामलों में से 1700 से ज्यादा या कुल मामलों में से 27 फीसदी मुंबई और अमरावती नगर निगम क्षेत्रों से सामने आए हैं. राज्य में शनिवार को कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 20,93,913 हो गई. वहीं 40 और लोगों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 51,753 हो गई. राज्य में अब 48,439 मरीजों का उपचार चल रहा है.

कोरोना संक्रमण ने महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा लोगों की जान ली है. कोरोना से देश में 33 फीसदी मौतें सिर्फ महाराष्ट्र में ही हुई है. यहां अबतक 51,753 संक्रमितों की जान जा चुकी है. अभी भी हर दिन सबसे ज्यादा मौत महाराष्ट्र में ही हो रही है. बीते दिन 40 संक्रमितों की सासे थम गई.

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे आज शाम 7 बजे प्रदेश की जनता को संबोधित करेंगे. कोरोना के बढ़ते मामलो को लेकर बात करेंगे. उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को स्पष्ट चेतावनी दी थी कि जब तक लोग कोरोना प्रोटोकॉल को कड़ाई से लागू नहीं करते, तब तक उन्हें राज्य में बढ़ते मामलों को देखते हुए लॉकडाउन के एक और मुकाबले के लिए तैयार रहना चाहिए.

ठाकरे ने यह भी घोषणा की थी कि राज्य में कोविड -19 रोगियों के इलाज के लिए ‘महात्मा ज्योतिबा फुले जन आरोग्य योजना’ योजना को राज्य में एक और दो महीने के लिए बढ़ाया जा रहा है. साथ ही उन्होंने सार्वजनिक रूप से फेस मास्क पहनने के अलावा, सार्वजनिक जुलूसों, रैलियों, और सभाओं पर प्रतिबंध लगाने से संबंधित सभी अधिकारियों को आदेश दिया था.

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.