विवादित बयान : अगर चुनाव के बाद अपने बच्चों का चेहरा देखना चाहती हैं तो मां उन्हें कंट्रोल में रखें – दिलीप घोष

1 min read

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव की तारीख जैसे-जैसे नजदीक आ रही है वैसे-वैसे ही पार्टियों के बीच भी जुबानी जंग तेज होती जा रही है. टीएमसी हो या बीजेपी दोनों ही एक दूसरे पर खूब निशाना साध रही हैं. पश्चिम बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष दिलीप घोष ने रविवार को राज्य में सत्तारूढ़ टीएमसी को एक नई चेतावनी जारी करते हुए कहा कि उनकी पार्टी कानून का पालन करती है लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि वह कमजोर है.

एक रैली को संबोधित करते हुए, घोष ने कहा, “हां, ‘खेला होब, खेला होब’ और ‘परिबोर्तन होब’. ममता दीदी के भाइयों को बता दूं कि इस बार राज्य में बीजेपी ही सरकार बनाएगी. मुझे पता है कि यात्रा रोकने के प्रयास होंगे इसलिए मैं आपसे मिलने आया हूं. हम सुनिश्चित करेंगे कि आप अपने वोट डालने में सक्षम हों.

घोष ने सत्तारूढ़ पार्टी को खुली चेतावनी देते हुए कहा कि, “हमारे विरोधी हमें बता रहे हैं कि हमारा खेल खत्म हो गया है लेकिन मैं उन्हें बता दूं कि हमारा खेल जारी है. तैयार रहो. अगर चुनाव के बाद वे अपना चेहरा देखना चाहते हैं तो माओं को बोलो कि अपने बच्चों को नियंत्रण में रखें. हम सभ्य हैं और कानून का पालन करते हैं लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि हम कमजोर हैं. ”

दिलीप घोष के इस बयान के बाद राजनीति में हड़कंप मच सकता है. बता दें कि इससे पहले भी घोष के देवी दुर्गा को लेकर दिए गए बयान पर बवाल मच गया था. टीएमसी सांसद अभिषेक बनर्जी ने दिलीप घोष पर आरोप लगाया कि उन्होंने मां दुर्गा का अपमान किया. वहीं इसका जवाब देते हुए दिलीप घोष ने कहा था कि टीएमसी मां दुर्गा के नाम पर सियासत कर रही है.

कुल मिलाकर कहा जाए तो राज्य में टीएमसी और बीजेपी के बीच जुबानी जंग तेज है. कोई भी एक दूसरे पर निशाना साधने का कोई मौका नहीं चूक रहे हैं. टीएमसी की तरफ से दावा किया जा रहा है कि राज्य में एक बार फिर उनकी सरकार बनेगी. वहीं बीजेपी की मानना है कि इस बार टीएमसी को सत्ता से हटाने का मन बंगाल की जनता ने बना लिया है. राज्य में विधासनभा की कुल 294 सीटें हैं. इस साल के मध्य में वहां चुनाव होने हैं.

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.