बड़े बदलाव की तैयारी में जुटे हैं चिराग पासवान- परिवार से बाहर का व्यक्ति हो सकता है बिहार का अध्यक्ष

1 min read

बिहार चुनाव में आशा के अनुरूप परिणाम नहीं मिलने के बाद लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) के अंदर आगे की रणनीति को लेकर चर्चा तेज़ हो गई है. पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने बिहार के पार्टी संगठन में आमूलचूल बदलाव का मन बना लिया है. एबीपी न्यूज़ को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक एलजेपी प्रदेश संगठन में बहुत बड़ा बदलाव हो सकता है. इस बदलाव में मौजूदा प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी भी बदल सकती है.

पहली बार पासवान परिवार से बाहर का अध्यक्ष
सूत्रों से एबीपी न्यूज़ को मिली जानकारी के मुताबिक़ प्रदेश अध्यक्ष को लेकर चिराग पासवान चौंकाने वाला फ़ैसला कर सकते हैं. इस बार बिहार प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी पासवान परिवार से बाहर के किसी व्यक्ति को मिल सकती है. सूत्रों से मिली पुख़्ता जानकारी के मुताबिक प्रदेश अध्यक्ष के लिए एलजेपी के पुराने चेहरों के साथ पार्टी में आए नए चेहरों पर भी विचार-विमर्श जारी है. पार्टी का सबसे बड़ा वजूद बिहार में है, लिहाज़ा बिहार प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी पार्टी में बड़ी अहम मानी जाती है.

बिहार चुनाव के बाद अध्यक्ष समेत पार्टी की बिहार इकाई को भंग कर दिया गया था. उस समय प्रदेश अध्यक्ष की कमान चिराग पासवान के भाई प्रिंस राज के पास थी जो पूर्व सांसद स्वर्गीय रामचन्द्र पासवान के बेटे हैं. प्रिंस राज के पहले चिराग पासवान के चाचा और पार्टी संस्थापक रामविलास पासवान के भाई पशुपति पारस बिहार इकाई के अध्यक्ष थे.

परिवारवाद का दाग धोना चाहते हैं चिराग?
स्वर्गीय रामविलास पासवान और एलजेपी पर लगातार राजनीति में परिवारवाद को बढ़ावा देने का आरोप लगता रहा है. साफ़ है कि परिवार से बाहर के व्यक्ति को पार्टी का बिहार अध्यक्ष बनाकर चिराग पासवान इस दाग़ से भी निकलना चाहते हैं. साथ ही , इस फ़ैसले से बिहार में पार्टी संगठन को नए सिरे से खड़ा करने की कवायद भी शुरू की जाएगी. प्रदेश अध्यक्ष के साथ साथ संगठन के बाक़ी पदों पर भी नए और पुराने चेहरों को अहम ज़िम्मेदारी देने की तैयारी चल रही है.

वरिष्ठ नेताओं की सलाह से होगा फ़ैसला
चिराग पासवान अगले कुछ दिनों में नए अध्यक्ष के नाम पर फ़ैसला ले लेंगे. पार्टी सूत्रों का दावा है कि नए अध्यक्ष और अन्य नामों पर फ़ैसला लेने के लिए चिराग पासवान पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेताओं से सलाह मशविरा कर रहे हैं. सूत्रों के मुताबिक़ सूरजभान सिंह और पशुपति पारस जैसे पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ मिलकर चिराग पासवान प्रदेश अध्यक्ष के नाम पर फ़ैसला करेंगे.

नीतीश कुमार पर और तेज़ होगा हमला
पार्टी नेताओं ख़ासकर राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने बिहार विधानसभा चुनाव में सीधा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उनके शासन पर हमला बोला था. उन्होंने जेडीयू के सभी उम्मीदवारों के ख़िलाफ़ अपने उम्मीदवार उतारे थे और क़रीब 30 सीटों पर जेडीयू उम्मीदवारों को लोजपा के चलते हार का सामना करना पड़ा था. अब पार्टी ने नीतीश कुमार पर हमला और तेज़ करने का फ़ैसला किया है. यही वजह है कि पिछले कई दिनों से क़ानून व्यवस्था के सवाल पर लोजपा लगातार नीतीश कुमार पर सीधा हमला कर रही है.

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.