जुलाई तक इतने करोड़ लोगों को लग सकता है कोरोना का टीका, तैयारियों में जुटी सरकार

1 min read

नई दिल्ली. देश में कोरोना से लड़ने के लिए टीकाकरण अभियान चल रहा है. सरकार ने संकेत दिया है कि जुलाई तक लगभग 25 करोड़ लोगों को कोविड-19 वैक्सीन की डबल डोज दी जा सकती है. राज्यों को टीकाकरण के लिए “प्राइरिटी पॉपुलेशन ग्रुप” की महीने के अंत तक एक लिस्ट तैयार करने के लिए कहा गया है. पहले चरण में फ्रंटलाइन हेल्थ वर्कर्स का टीकाकरण किया जा रहा. इसमें सरकारी के साथ-साथ प्राइवेट सेक्टर के डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ और सेनेटरी वर्कर आदि शामिल हैं.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा है कि “सरकार जुलाई 2021 तक लगभग 20-25 करोड़ लोगों को कवर करने के लिए 400-500 मिलियन डोज प्राप्त करने और उपयोग करने के लिए बड़े पैमाने पर मानव संसाधन, प्रशिक्षण, सुपरविजन आदि में क्षमताओं को बिल्डअप करने की योजना पर काम कर रही है.” डॉ. हर्षवर्धन रविवार को अपने वीकली सोशल मीडिया इंटरेक्शन, संडे संवाद में बोल रहे थे.

राज्यों से ब्लॉक स्तर तक के इंफ्रास्ट्रक्चर की मांगी डिटेल
मंत्री ने कहा कि राज्यों को कोल्ड चेन सुविधाओं और ब्लॉक स्तर पर बुनियादी ढांचे से संबंधित डिटेल देने के लिए कहा गया है. भारत में तीन प्रमुख वैक्सीन का ट्रायल किया गया जिनमें से केवल एक कोविशिल्ड ने तीसरे चरण के ट्रायल पूरे किए. ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और एस्ट्राजेनेका की ओर से डेवलप कोविशिल्ड का ट्रायल भारत में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) ने किया है. रेगुलेटर्स से इसके इस्तेमाल की भी मंजूरी मिली.

सीरम स्टीट्यूट से मिल सकती हैं 200 मिलियन डोज
सीरम स्टीट्यूट ने भारत और दूसरे कम आय वाले देशों के लिए 200 मिलियन डोज के उपलब्ध कराने की बात कही है. इनमें से कम से कम 50 मिलियन डोज भारत को लगभग 250 रुपए पर वैक्सीन से उपलब्ध होने की संभावना है. हालांकि इसकी पुष्टी नहीं की गई है.

जायडस कैडिला और भारत बायोटेक की ओर से तैयार किए जा रहे दो अन्य वैक्सीन का भी ट्रायल चल रहा है. आम तौर पर टीकों को ट्रायल और अप्रूवल में कई साल लगते हैं लेकिन दुनिया भर में सरकारों और रेगुलेटर्स ने वैक्सीन जल्द उपलब्ध कराने के लिए प्रक्रियाओं को तेजी से पूरा किया है.

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.