छत्तीसगढ़ में बढ़ें ब्लैक फंगस के मरीज, तीन की निकालनी पड़ी आंखें, 93 मरीजों की हुई पहचान

रायपुर. ब्लैक फंगस का इलाज कराने भर्ती एक महिला मरीज की एम्स रायपुर में मौत हो गई। इससे पूर्व भिलाई में भी एक मरीज की इस बीमारी से मृत्यु हुई थी। इसे मिलाकर बीते पांच दिन में दो की मौत ब्लैक फंगस से हो गई। इसी के साथ राज्य में फंगस से पीड़ित मरीजों की संख्या 93 तक पहुंच गई। नए मरीज रायपुर के साथ ही बिलासपुर, कोरिया, अंबिकापुर, दुर्ग समेत अन्य जिलों के मरीज हैं। इनमें अकेले एम्स में ही 61 मरीज भर्ती हो गये। वहीं मेकाहारा में इनकी संख्या सात हैं। इधर आपरेशन के दौरान तीन मरीजों की आंखें निकालनी पड़ी हैं। एम्स के पीआरओ ने बताया कि एक दिन पहले ब्लैक फंगस से जिस महिला की मौत हुई थी वह पहले कोरोना से पीड़ित थी। लक्षण नजर आने के बाद एम्स में भर्ती किया गया था। सप्ताह भर पहले उसका आपरेशन किया गया था। महिला को अनियंत्रित शुगर, आंख में सूजन समेत अन्य शिकायतें थीं। प्रत्येक अस्पताल को इसकी जानकारी सरकार को उपलब्ध करानी है। इन मरीजों के लिए एम्स और आंबेडकर अस्पताल में निश्शुल्क इलाज की सुविधा है।

तीन की निकालनी पड़ीं आंखें : ब्लैक फंगस के एम्स में भर्ती 61 मरीजों में से 15 का ऑपरेशन हो गया। इनमें तीन मरीजों की संक्रमित आंखें निकाली गईं। वहीं एक का आंख व ब्रेन के संक्रमित टिश्यू निकाले गये।

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.