Birthday Special : जवानी में निभाया था 60 साल के बुजुर्ग का रोल, ऐसा है एक्टर Anupam Kher का फ़िल्मी सफऱ

बॉलीवुड एक्टर अनुपम खेर, एक ऐसे अभिनेता हैं जिन्होंने अपनी अदायगी का हर रंग परदे पर कुछ इस तरह से बिखेरा कि सभी को अपना मुरीद बना लिया. आज अनुपम खेर का जन्मदिन है. 7 मार्च 1955 में शिमला में अनुपम का जन्म हुआ.

अनुपम की की पढ़ाई शिमला के डी.ए.वी. स्‍कूल से हुई. इसके बाद एक्टिंग का सपना लिए खेर दिल्ली आ गए और उन्होंने नेशनल स्‍कूल ऑफ ड्रामा में दाखिला लिया और एक्टिंग के गुर सीखे. शुरूआत में स्टेज पर एक्टिंग करते रहे.

अनुपम ने अपने फिल्मी सफर की शुरूआत 1982 में आई फिल्म ‘आगमन’ से की थी, लेकिन इस फिल्म से उन्हें कोई खास फायदा नहीं हुआ. 1984 में आई फिल्म ‘सारांश’ से अनुपम को ना सिर्फ पहचान मिली बल्कि उनके काम की काफी तारीफ भी हुई. कम उम्र के होते हुए भी उन्होंने इस फिल्म में उम्र दराज कैरेक्टर प्ले किया.

अनुपम एक ऐसे एक्टर हैं जिन्होंने हर किरदार को पर्दे पर शानदार तरीके से अदा किया. फिर चाहे वो ‘कर्मा’ का डॉक्टर डेन या फिर फिल्म ‘दिल है कि मानता नहीं’ का एक अमीर पिता. अनुपम की कॉमिक टाइमिंग का कोई सानी नहीं. जब भी खेर ने फिल्मों में कॉमेडी का तड़का लगाया वो फिल्म हिट हो गई. वहीं संजीदा रोल में भी उनहोंने अपनी अलग पहचान बनाई. फिल्म डेडी में उनके संजीदा रोल को काफी पसंद किया गया.

‘पद्मश्री’ समेत कई अवॉर्ड से नवाजे गए

फिल्म ‘डेडी’ और ‘मैंने गांधी को नहीं मारा’ के लिए अनुपम खेर को नेशनल अवॉर्ड से नवाजा कगया. फिल्म सारांश के लिए अनुपम ने पहली बार फिलम फेयर अवॉर्ड अपने नाम किया. यही नहीं उन्होंने पांच बार फिल्मफेयर अवॉर्ड फॉर बेस्ट परफॉर्मेंस इन कॉमिक रोल का अवॉर्ड भी मिला. इसके साथ ही उन्हें ‘पद्मश्री’ अवॉर्ड से भी नवाजा गया.

हर किरदार में फिट हैं अनुपम

अनुपम खेर ने अब तक करीब 400 से ज्यादा फिल्मों में काम किया, सरांश , सरांश डैडी, दिल है कि मानता नहीं, राम लखन, कर्मा, हम आपके हैं कौन, दिल वाले दुल्हनियां ले जाएंगे, शोला और शबनम, बेट डर जैसी सुपहिट फिल्मों में उन्होंने अपनी एक्टिंग का जलवा दिखाया. इसके साथ ही उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की बायॉपिक ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ में मनमोहन सिंह की भूमिका अदा की थी, इस फिल्म को लेकर काफी विवाद हुआ था बावजूद इसके खेर की एक्टिंग को इस फिल्म में काफी पसंद किया गया. अनुपम खेर पूरी तरह से तो राजनीति में सक्रीय नहीं है, लेकिन पत्नी किरण खेर के लिए वो चुनाव प्रचार में करते नजर आए. इसके साथ ही अनुपम सरकार के समर्थन करने वालों में से एक हैं. वो कई बार सरकार की नीडियों का समर्थन करते नजर आते हैं, यही वजह है कि कई बार उन्हें ट्रोल किया जाता है.

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.