65 वां रेल सप्ताह में अधिकारी और कर्मचारी हुए पुरस्कृत

1 min read

बिलासपुर. दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे द्वारा 65वॉ रेल सप्ताह समारोह बुधवार को एन.ई.इंस्टीट्यूट ग्राउंड बिलासपुर में परम्परा के अनुसार पूरी गरिमा के साथ मनाया गया। इस समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के महाप्रबंधक गौतम बनर्जी, सेक्रो अध्यक्षा श्रीमती इंदिरा बनर्जी उपस्थित थी।  इस कार्यक्रम में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के समस्त विभागाध्यक्ष, तीनों रेल मंडल के मंडल रेल प्रबंधक, यूनियन एवं एसोशिएशन के पदाधिकारियों सहित अधिकारी एवं कर्मचारी एवं मीडिया के प्रतिनिघिगण भी काफी संख्या में उपस्थित थे ।

भारत में पहली बार रेल का शुभारंभ 16 अप्रैल 1853 में मुम्बई से थाणे के मध्य रेल चलाकर की गई थी । इस ऐतिहासिक घटना की याद में रेल मंत्रालय सहित सभी क्षेत्रीय रेलवे, वर्कशाप, यूनिटों एवं मंडलों में प्रति वर्ष रेल सप्ताह मनाया जाता है। रेल सप्ताह समारोह में रेल अधिकारियों एवं कर्मचारियों को विगत वित्तीय वर्ष मे उनके द्वारा किये गये उत्कृष्ट कार्यों के लिए उन्हें प्रोत्साहन स्वरूप पुरस्कृत किया जाता है । इस अवसर पर सर्वप्रथम परम्परा अनुसार मुख्य अतिथि गौतम बनर्जी के द्वारा दीप प्रज्वलित कर इस समारोह का शुभारम्भ किया गया । उप महाप्रबंधक (सा.) कन्हैया गौयल के द्वारा सभी अतिथियों व आगंतुकों का स्वागत किया गया तथा रेलवे के गौरवशाली इतिहास पर प्रकाश डाला। इसके उपरान्त दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के वर्ष 2019-20 की उपलब्धियों पर बनाई गयी झलकियॉं प्रस्तुत की गई । दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के सांस्कृतिक कलाकारों द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किये गये।

इस अवसर पर महाप्रबंधक गौतम बनर्जी ने के द्वारा दिये गये भाषण में सर्व प्रथम उन्होनें पूरे रेल परिवार को इस अवसर पर बधाई दी तथा आगे कहा कि इस दिन हम लोग रेल की प्रारंभ से लेकर आज तक हुए विकास को याद करते हैं । उन्होंने आगे कहा कि दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे भारतीय रेलवे का एक अत्यंत महत्वपूर्ण अंग है जिसने अपनी स्थापना के पश्चात् ही रेल परिचालन के हर क्षेत्र में हर संभव उपलब्धियों को प्राप्त किया है । अपने प्रदर्शन को जारी रखते हुए गत वित्तीय वर्ष में हमनें 170 मिलियन टन लोडिंग एवं 21 हजार करोड़ की अर्निंग अर्जित की थी । इस वर्ष भी कोरोना जैसी महामारी के दौर में हमनें दिसंबर, 2020 तक 130 मिलीयन टन लोडिंग की है, जो कि पिछले वर्ष की तुलना में लगभग 5 प्रतिशत अधिक है । विशेष कर इस वर्ष के तीसरे तिमाही में हमनें लगभग 10 मिलीयन टन लोडिंग कर पिछले वर्ष की तुलना में 23% ग्रोथ की है ।

आज दुनिया एक अभूतपूर्व चुनौती का सामना कर रही है । कोरोना वायरस के विरुद्ध जारी लड़ाई में हमारा देश भी शामिल है । कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए किए गए सम्पूर्ण लॉकडाउन के दौरान भी रेलवे ने देश के कोने – कोने में खाने एवं अन्य जरूरी वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित की है । इसके साथ ही बिजली की अबाध आपूर्ति को बनाए रखने के लिए तापघरों को लगातार कोयला भी पहुंचाया । इसके साथ आप सभी ने कोरोना काल की आपदा को भी अवसर के रूप में बदलने में कोई कसर नहीं छोड़ी ।

कोरोना काल के दौरान हमने मालगाड़ियों का परिचालन किया। इस वर्ष हमनें खरसिया – कोरीछापर नई रेल लाइन, केवटी – अंतागढ़ के बीच नई रेल लाइन, जबलपुर – गोंदिया, छिंदवाड़ा – नागपुर एवं नैनपुर – मंडला फोर्ट के बीच चांपा – झारसुगुड़ा एवं पेंड्रारोड – निगौरा के बीच तीसरी रेल लाइन के कार्य को भी पूर्ण किया। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे को वर्ष 2019-20 के लिए रेल मंत्रालय द्वारा रेल मंत्री संकेत एवं दूरसंचार शील्ड एवं संरक्षा शील्ड से नवाजा गया है. ये सभी विभागों के रेलकर्मियों के सम्मिलित प्रयास से संभव हुआ है। टीम रेलवे का प्रत्येक सदस्य इन उपलब्धियों के लिए बधाई का पात्र है। इसका सारा श्रेय आप सभी कर्मियों की लगन एवं कर्तव्यनिष्ठा को जाता है । मैं इस अवसर पर आप सभी के परिवारजनों को भी हार्दिक बधाई देना चाहूंगा क्योंकि उनके सहयोग एवं प्रोत्साहन के बिना ऐसा हो पाना संभव नहीं था । मुख्य अतिथि के संबोधन के पश्चात 65वॉ रेल सप्ताह के अवसर पर उत्कृष्ट कार्यों के लिए 10 अधिकारियों एवं 110 कर्मचारियों को पुरस्कृत किया गया । इसके पश्चात तीनों रेल मंडलों के विभिन्न विभागों के मध्य 47 उत्कृष्टता शील्ड प्रदान की गयीं । हर मापदंड पर बेहतर कार्य करने के लिए तीनों मंडलों में से रायपुर रेल मंडल को ओवरआल एफिशिएंसी सतपुड़ा शील्ड से नवाजा गया है । इस बार ओवरआल एफिशिएंसी शील्ड का नाम सतपुड़ा शील्ड रखा गया है ।  पुरस्कार वितरण के पश्चात् मुख्य जनसंपर्क अधिकारी साकेत रंजन के द्वारा धन्यवाद ज्ञापित किया गया ।

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.