हाथरस मामला : सामना में योगी सरकार पर हमला, लिखा ‘यूपी में रामराज्य नहीं, जंगलराज है’

मुंबई. उत्तर प्रदेश के हाथरस में हुए 19 वर्षीय दलित लड़की से कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार का मामला काफी तूल पकड़ता जा रहा है. मामले में लड़की को रीढ़ की हड्डी में चोट और जीभ कटने की वजह से गहरी चोटें आई थी, जिसके बाद इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. वहीं बीते दिनों से जिले में काफी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है. इसके साथ ही गांव में किसी के भी आने जाने पर रोक लगा दी गई है.

वहीं अब महाराष्ट्र में शिवसेना के मुखपत्र सामना में घटना को लेकर उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार को आड़े हाथों लिया है. सामना में कहा गया है कि ‘यूपी में रामराज्य नहीं, जंगलराज है’. सामना में उत्तर प्रदेश में हुए दलित लड़की से कथित तौर पर बलात्कार और उसकी मौत की घटना की कड़ी निंदा की है.

इससे पहले हाथरस में गैंगरेप पीड़िता के परिवार से मिलने जा रहे कांग्रेस नेता राहुल गांधी के साथ भी काफी दुर्व्यवहार किया गया. जिस पर शिवसेना नेता सांसद संजय राउत ने राहुल गांधी के साथ हुई घटना को देश के लोकतंत्र का गैंगरेप बताया है. उन्होंने कहा, “जिस तरह से राहुल गांधी का कॉलर पकड़ा, धक्का मारा, गिराया ये एक तरह से इस देश के लोकतंत्र पर गैंगरेप है, इस गैंगरेप की भी जांच होनी चाहिए.”

बता दें कि मामले में अभीतक कुल चार आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है. वहीं यूपी सरकार ने सख्ती दिखाते हुए जिले के एसपी सहित पांच पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है. एसपी विक्रांत वीर सिंह, क्षेत्राधिकारी (सीओ) राम शब्द, इंस्पेक्टर दिनेश कुमार वर्मा, सब इंस्पेक्टर जगवीर सिंह और हेड मोहर्रिर महेश पाल को निलंबित कर दिया गया है. इसके साथ ही शामली के एसपी विनीत जायसवाल को हाथरस का एसपी बनाया गया है.

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.