सड़क निर्माण में रात को रोलर चलाने गए युवक की तड़के मिली लाश, जांच में जुटी पुलिस

बिलासपुर. सड़क निर्माण में रात को रोलर चलाने गए युवक की तड़के संदिग्ध परिस्थितियों में लाश मिली। उसके सिर के पीछे चोट के निशान थे और पैरों की दोनों अंगुलियों में धारदार वस्तु से छेद बने थे। पास ही में एक काले कपड़े में चंदन बंदन, नीबू, पान सुपारी बंधा हुआ मिला। वहां पर पूजा भी हुई थी। परिजनों ने नरबलि की आशंका जताई है जबकि पुलिस इसे एक महज दुर्घटना मान रही है। मामला कोटा क्षेत्र का है। बिलासपुर मंगला से भैंसाझार जाने वाले मार्ग पर इन दिनों सड़क निर्माण का काम चल रहा है। इसमें घुटकू निवासी सुख सागर लोनिया पिता घनश्याम लोनिया 19 वर्ष भी जाता था। उसे रोलर चलाने का शौक था। वह बिहार से आए किसी व्यक्ति के पास रोज रोलर सीखने जाता था। सोमवार की रात को भी वह घर से किसी के साथ निकला। तड़के किसी ने उसके घर आकर उसकी खरगहनी में सड़क किनारे लाश पड़े होने की सूचना दी तो परिजन मौके पर पहुंचे। कोटा सहित कोनी, सकरी पुलिस मौके पर पहुंची। घटनास्थल के आसपास मिले सामान व चोट के निशान के आधार पर सुखसागर के परिजनों ने हत्या की आशंका जताई है। भाई प्रेमसागर के अनुसार सुखसागर के दोनों पैर में किसी धारदार हथियार से चोट के निशान मिले। इसी तरह सिर को कुचला गया था। मुंह में टावेल बंधा था। मौके से एक चप्पल गायब थी। कोटा तहसीलदार शिल्पा भगत,रतनपुर तहसीलदार पेखन टोंडे व एसडीओपी रश्मित कौर चावला, कोटा टीआई आईपीएस गौरव राय मौके पर गए। तहसीलदार शिल्पा भगत के अनुसार रात को सुखसागर को जो बुलाने आया था उसकी पहचान करवाई जाएगी। पुलिस ने इसे दुर्घटना माना है। जब लोग वहां पहुंचे तो मौके पर कोई भी गाड़ी मौजूद नहीं थी। परिजनों का मानना है सुखसागर की बलि चढ़ाई गई है।

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.