सीएम भूपेश बघेल और भाजपा सांसद सरोज पांडे के बीच चार माह बाद फिर से चले शब्दबाण, जानें क्या मामला

रायपुर. सीएम भूपेश बघेल और भाजपा सांसद सरोज पांडे के बीच चार माह बाद शनिवार को फिर से शब्दबाण चले हैं। बघेल ने जहां दो साल पहले दुर्ग में हुए सुआ नृत्य महोत्सव को किसी वर्ल्ड रिकार्ड के लिए न करने बल्कि तत्कालीन सीएम और स्पीकर के साथ कमर मटका रहीं थीं। इस पर सरोज पांडे ने कहा कि सीएम को अपनी बात मर्यादित शब्दों में रखना चाहिए।

सुआ तो हमारे यहां की महिलाएं करती हैं: सीएम

सीएम भूपेश बघेल ने मीडिया से बातचीत में कहा कि दुर्ग में सुआ नृत्य का कोई वर्ल्ड रिकॉर्ड नहीं बना था, बल्कि राज्यसभा सांसद सरोज पांडेय पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह और नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक के साथ कमर मटका रही थीं। सीएम बघेल शनिवार को चिरमिरी में थे। इस दौरान उन्होंने सरोज के बयान के संबंध में हुए सवाल पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि सुआ नृत्य हमारे यहां की महिलाएं करती हैं। इस पर सरोज ने सीएम भूपेश को मर्यादित बयान देने की नसीहत दी है। साथ ही, यह भी कहा कि उन्होंने राखी भेजी थी। एक बहन की स्वाभाविक अपेक्षा है कि वे मर्यादित ढंग से बयान दें। दरअसल, इस विवाद की शुरुआत सरोज के उस बयान से हुई थी, जिसमें उन्होंने कहा था कि सरकार ने दो साल लट्टू चलाने और राउत नाचने में बिता दिए।

सीएम के कार्यकाल पर किया था सवाल

इसके बाद जब सीएम ने पलटवार किया तो सरोज के साथ पूर्व मंत्री राजेश मूणत और भाजपा महिला मोर्चा अध्यक्ष शालिनी राजपूत ने भी हमला बोला है।कुशाभाऊ ठाकरे परिसर में मीडिया से बातचीत में सरोज ने कहा कि उन्होंने सीएम के दो साल के कार्यकाल पर सवाल किए थे। जनता के हित को लेकर यह सवाल किया था, ऐसी एक बहन की बहुत स्वाभाविक अपेक्षा है और छत्तीसगढ़ की हर बहन की स्वाभाविक अपेक्षा है। सरोज ने कहा कि उन्हें लगता है कि राजनीति में अपनी बात आप जरूर रखें, सभी की भावनाओं का सम्मान है, लेकिन बात रखते समय, अगर वह मर्यादित होगा तो अच्छा होगा। पूर्व मंत्री मूणत ने कहा है कि सीएम बघेल का बयान दूषित मानसिकता का परिचायक है। महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष हर्षिता पांडे ने निंदा करते हुए कहा कि सीएम का भाषाई गरिमा की चिंता करनी चाहिए।

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.