संस्था मार्मिक चेतना वेलफेयर सोसाइटी के सदस्यों ने गरीबों को बांटे गर्म कपड़े, शहर को भिक्षुक मुक्त करने लिया संकल्प

बिलासपुर. एकाएक बढ़ती ठंड से रेलवे स्टेशन व बस स्टैंड व सड़क के किनारे ठिठुर रहे गरीब असहायों के बीच संस्था मार्मिक चेतना वेलफेयर सोसाइटी बिलासपुर छत्तीसगढ़ ने कंबल वितरण किया। स्टेशन, बस स्टैंड तथा मंदिर के बाहर कंपकंपा देने वाली ठंड में असहायों के बीच कंबल वितरण करना एक साहसिक कदम है। ठंड से अपने घरों में दुबके हों ऐसी परिस्थिति में असहायों की सुधि लेने की समाजसेवी ने गरीबों का दर्द समझ गरीबों व असहायों के बीच कंबल बांटे। कंबल वितरण के दौरान समाजसेवी ने कहा कि गरीबों व असहायों को मदद करना मेरी नियती में शामिल है। उन्होंने कहा कि मैंने यह निश्चय किया कि जितना हो सके मैं अब असहायों को ठंड से मरने से बचाएंगे । हम सार्वजनिक स्थलों पर घूम घूम कर जरूरतमंद असहायों के बीच गर्म कपड़े व कंबल का वितरण कर रहे हैं। कंबल वितरण को लोगों ने बताया सराहनीय कदम | कहा जाता है कि जिसका कोई सहारा नहीं होता उसका भगवान ही सहारा होता है।एक ओर जहा ठिठुरती ठंढ मे रजाई एवं कम्बल के सहारे घरों में लोग सो जाते है ।लेकिन उसकी जिंदगी कैसे गुजरती होगी जो एक साधारण चादर के सहारे ठंढी रात गुजारते है। असहायो पर सबकी दया नही होती बल्कि भगवान की जिसपर कृपा होती है वही इस तरह के पुन्य कार्य करते हैं। समाजसेवी ने बताया कि यह कार्यक्रम आगे भी जारी रहेगा। महादलित टोलों में जाकर भी कंबल वितरण किया जाएगा | साथ ही साथ जो भिक्षा लेकर अपना जीवन यापन करते हैं उन्हें रोजगार के प्रति प्रोत्साहित किया गया एवं शिक्षा के बदले कुछ कार्य करने के लिए प्रेरित किया गया जिसके लिए संस्था ने भविष्य में उन्हें वेट मशीन चप्पल स्टैंड फूल माला की दुकान आदि स्थापित करने का निर्णय लिया है। मौके पर नीरज गेमनानी, अनुभव शुक्ला, शुभम, अंकिता पांडेय शुक्ला नेहा तिवारी रूपाली पांडे आदि मौजूद थे।

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.