विधायक गांव के बच्चों ने बताया स्कूल को चाहिए विज्ञान शिक्षक, सभापति ने कहा-दूर करेंगे समस्या

बिलासपुर.  बेलतरा विधानसभा के पौंसरा स्थित शासकीय उच्चत्तर माध्यमिक विद्यालय के बच्चों ने प्रशासन से स्कूल में विज्ञान शिक्षक की मांग की है। शाला निरीक्षण के दौरान जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा को छात्रों ने लिखित आवेदन कर बताया कि हम में से कई बच्चे विज्ञान विषय लेकर पढ़ना चाहते थे। लेकिन स्कूल में विज्ञान का कोई शिक्षक नहीं है। इसलिए मजबूरी में कामर्स या आर्ट लेना पडता है। बताते चलें कि पौंसरा बेलतरा के स्थानीय विधायक रजनीश सिंह का गांव है। विधायक का आज भी यही रहना होता है।

जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा ने शनिवार को शासकीय उच्चत्तर माध्यमिक विद्यालय का सौजन्य निरीक्षण किया। निरीक्षण कार्यक्रम के दौरान सभापति अंकित गौरहा ने सभी शिक्षकों और शिक्षिकाओं से मुलाकात की। गौरहा ने पालकों से भी स्कूल की पठन पाठन गतिविधियों को लेकर चर्चा की। पालकों समेत बच्चो ने गौरहा को बताया कि स्कूल में पिछले कई साल से विज्ञान का शिक्षक नहीं है। जिसके कारण उन्हें मजबूरी में आर्टस या कामर्स लेकर पढ़ना पढता है।  मामले में कई बार विधायक को भी जानकारी दी गयी । बावजूद इसके अभी तक विज्ञान के एक भी शिक्षक को नियुक्ति नही किया गया है।

निरीक्षण के दौरान सभापति अंकित गौरहा के अलावा जनपद पंचायत सदस्य रवि बघेल, रीतेश शर्मा,पवन सिंह भी मौजूद थे। बच्चों ने स्कूल से जुड़ी कई अन्य परेशानियों को भी सभापति के सामने रखा। बच्चों ने बताया कि स्कूल की स्थिति ठीक नहीं है। शौचालय से लेकर कई प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। जानकारी देते चलें कि पौंसरा बेलतरा विधायक रजनीश सिंह का गांव है। गांव में ही विधायक का भी निवास है। बावजूद इसके स्कूल की समस्याओं को लेकर बच्चों समेत शिक्षकों की जूझना पड़ रहा है। इतना ही नहीं बच्चों और अभिभावकों ने परेशानियों को कई बार जिला शिक्षा अधिकारी और विधायक के सामने रखा। लेकिन समस्या जस की तस बनी हुई है।

मामले में अकित गौरहा ने बताया कि बच्चों की मांग जायज है। मन मुताबिक विषय नहीं मिलते से जाहिर सी बात है कि पढ़ाई में रूचि कम होती है। विज्ञान विषय के शिक्षकों की समस्या को जल्द ही दूर किया जाएगा। मामले को जरूरत पड़ी तो मंत्री के सामने भी रखा जाएगा। लेकिन हमें पूरी उम्मीद है कि शिक्षकों समेत अन्य दूसरी समस्याओं को दूर कर लिया जाएगा। निरीक्षण के दौरान अंकित गौरहा ने स्टाफ को हर प्रकार की मदद का आश्वासन दिया व प्राचार्य श्रीमती कविता दत्ता के अनुपस्थिति पर नाराजगी व्यक्त की। उन्होने कहा कि स्कूल बच्चों के लिए है इसलिए उनकी समस्याओं को गंभीरता से लिया जाए। बेहतर है कि बच्चों की समस्याओं को शिक्षक उचित मंच और जिम्मेदार व्यक्ति के सामने रखा जाए। ताकि समस्याओं का गंभीरता से निदान हो सके। सभापति गौरहा ने बताया कि इस दौरान बच्चों के बीच सुखद पल गुजारने का मौका मिला। उन्हे किसी भी समस्या को लेकर सम्पर्क करने को कहा है। इस दौरान बच्चों ने बताया कि पढ़ लिखकर माता पिता गांव और जिला का नाम रोशन करेंगे।

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.