रिसर्च सेंटर का नाम गोलवलकर के नाम पर रखने पर विवाद, सीएम और शशि थरूर ने किया विरोध

1 min read

तिरुवनंतपुरम. केरल में राजीव गांधी सेंटर फॉर बॉयोटेक्नॉलॉजी संस्थान(RGCB)के नए कैंपस के नाम को लेकर बहस छिड़ गई है. केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन ने इस पर आपत्ति जताते हुए केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन को पत्र लिखा है. इस संस्थान का नाम श्री गुरुजी माधवराव सदाशिव राव गोलवलकर नेशनल सेंटर फॉर कॉम्प्लेक्स डिजीज इन कैंसर एंड वायरल इंफेक्शन’ रखना प्रस्तावित है जिसे लेकर पिनरई विजयन ने कहा कि केरल सरकार चाहती है कि इस कैंपस का नाम अंतर्राष्ट्रीय ख्याति के किसी भारतीय वैज्ञानिक के नाम पर किया जाना चाहिए.

डॉ. हर्षवर्धन ने क्या कहा था?

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ.हर्षवर्धन ने कहा, ”RGCB संक्रामक बीमारियों के निदान और शोध में बड़ी भूमिका निभा रहा है. तिरुवनंतपुरम में इसका दूसरा कैंपस बनकर तैयार है. मुझे ये बताते हुए खुशी हो रही है कि इस रिसर्च फैसलिटी का नाम श्री गुरुजी माधव सदाशिव गोलवलकर नेशनल सेंटर फॉर कॉम्प्लेक्स डिसीज इन कैंसर एंड वायरल इंफैक्शन होगा.”

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने तिरुवनंतपुरम के जिस RGCB की कोरोना और कैंसर से लड़ाई में बड़ी भूमिका निभाई उसका पूरा नाम राजीव गांधी सेंटर फॉर बॉयोटेक्नोलॉजी है. इस सेंटर का तिरुअनंतपुरम में ही दूसरा कैंपस बनकर तैयार हुआ है- जिसका नाम केंद्र सरकार आरएसएस के दूसरे सर संघचालक माधवराव सदाशिवराम गोलवलकर उर्फ गुरुजी के नाम पर करने जा रही है.

सीपीएम सरकार और कांग्रेस फैसले के विरोध में उतरी
डॉ.हर्षवर्धन का ये बयान सामने आते ही केरल की सीपीएम सरकार और कांग्रेस फैसले के विरोध में उतर आई है. केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने डॉ. हर्षवर्धन को चिट्ठी लिखी है और ऐसा न करने की अपील की है.

केरल के सीएम पिनरई विजयन ने केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन को लिखा पत्र
विजयन ने हर्षवर्धन को लिखा, ”पता चला है कि राजीव गांधी सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी का नाम श्रीगुरुजी माधव सदाशिव गोलवलकर के नाम पर प्रस्तावित किया जा रहा है. RGCB पहले केरल सरकार चलाती थी बाद में इसे केंद्र सरकार को सौंपा गया. केरल सरकार चाहती है कि इस कैंपस का नाम अंतर्राष्ट्रीय ख्याति के किसी भारतीय वैज्ञानिक के नाम पर किया जाना चाहिए. मैं आपसे निवेदन करता हूं कि अगर ये फैसला ले लिया गया है तो इस पर फिर से विचार करें और अगर नहीं लिया गया है– तो कृपया ऐसा न करें. मुझे उम्मीद है आपका मंत्रालय इस पर विचार करेगा और बेवजह के विवाद से बचेगा.”

नाम बदलने के विवाद में कांग्रेस भी कूदी
नाम बदलने के विवाद में कांग्रेस भी कूद पड़ी है. वरिष्ठ कांग्रेस नेता और तिरुवनंतपुरम के सांसद शशि थरूर ने नए कैंपस का नाम गोलवलकर के नाम पर रखे जाने को लेकर कड़ी आपत्ति जताई है. थरूर ने केरल के सीएम विजयन और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन को चिट्ठी लिखी है. थरूर ने राजीव गांधी सेंटर फॉर बायो टेक्नालॉजी के नये कैम्पस का नाम तिरुवनंतपुरम में जन्मे वैज्ञानिक डॉ. पी पाल्पू के नाम पर करने की मांग की है. थरूर का कहना है कि गोलवलकर के नाम पर नए कैंपस का नाम तिरुअनंतपुरम की जनता का अपमान होगा. केरल में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं. इसके पहले नामकरण विवाद की राजनीति गर्मा सकती है. गुरु गोलवलकर को बीजेपी हिंदू राष्ट्रवाद का नायक मानती है जबकि कांग्रेस और सीपीएम उन्हें नफरत फैलाने वाले नेता के तौर पर प्रचारित करती रही हैं.

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.