रायपुर सहित छत्तीसगढ़ के सभी जिलों में बंद का असर, ट्रैक्टर और बाइक पर सवार होकर निकले कांग्रेसी

1 min read

रायपुर.किसानों के भारत बंद का जोरदार असर छत्तीसगढ़ में भी देखने को मिल रहा है। राजधानी रायपुर सहित प्रदेश के अगल-अलग जिलों में सुबह 6 बजे से ही कांग्रेसी और बड़े नेता बंद के समर्थन में सड़कों पर हैं। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ट्रैक्टर पर सवार होकर रायपुर के जय स्तंभ चौक पहुंचे। यही हालत बिलासपुर, राजनांदगांव, धमतरी और बस्तर में भी है।

रायपुर में कांग्रेसी सुबह से ही बंद के समर्थन में सड़कों पर निकले हैं। इस दौरान संसदीय सचिव विकास उपाध्याय एक ठेले वाले से हाथ जोड़कर दुकान बंद करने की अपील करते दिखे।
रायपुर में कांग्रेसी सुबह से ही बंद के समर्थन में सड़कों पर निकले हैं। इस दौरान संसदीय सचिव विकास उपाध्याय एक ठेले वाले से हाथ जोड़कर दुकान बंद करने की अपील करते दिखे।

राजधानी रायपुर में भी सुबह अभी बंद का मिला जुला असर है। मुख्य मार्गों पर बड़ी दुकानें और बाजार बंद हैं, लेकिन रायपुरा सहित कुछ जगहों पर पेट्रोल पंप और दुकानें खुली हुई हैं। पुरानी बस्ती, कटोरा तालाब, मालवीय रोड, पंडरी कपड़ा बाजार, बॉम्बे मार्केट, संतोषी नगर, टिकरापारा समेत दर्जनों इलाकों में दुकानें बंद हैं। इन इलाकों में विधायक विकास उपाध्याय के नेतृत्व में कांग्रेसी निकले हैं।

वहीं बिलासपुर में बंद का कुछ खास असर नहीं दिखाई दे रहा है। दुकानें अपने निर्धारित समय पर सुबह से खुल रही हैं। किसानों के इस बंद में व्यापारियों की कुछ खास दिलचस्पी नहीं दिखाई दे रही। तिफरा में व्यापारियों ने तो बंद का विरोध कर दिया। बिलासपुर में व्यापक बंद का असर दोपहर 12 से 2 के बीच दिखने की संभावना जताई जा रही है। वहीं कांग्रेस कार्यकर्ता सुबह से ही सड़कों पर निकले हैं।

धमतरी में व्यापारी दुकान का आधा शटर खोलकर बैठे हैं। सभी चौक पर बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात की गई है। धमतरी में व्यापारी दुकान का आधा शटर खोलकर बैठे हैं। सभी चौक पर बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात की गई है।

धमतरी में जिला कांग्रेस के नेतृत्व में कांग्रेसी सुबह से शहर बंद कराने घूम रहे हैं। हालांकि जिले के किसान ही इसमें शामिल नहीं दिखाई दे रहे। नेशनल हाईवे की दुकानों के अलावा स्टेट हाईवे और सदर मार्ग पर कांग्रेस कार्यकर्ता घूम-घूम कर व्यापारियों से समर्थन मांगते रहे। अधिकांश व्यापारियों ने समर्थन नहीं दिया। व्यापारी दुकान का आधा शटर खोलकर बैठे हैं। सभी चौक पर बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात की गई है।

राजनांदगांव में महापौर हेमा देशमुख, शहर कांग्रेस अध्यक्ष कुलवीर छाबड़ा, समेत तमाम कांग्रेस दुकानें बंद करवाते नजर आए। राजनांदगांव में महापौर हेमा देशमुख, शहर कांग्रेस अध्यक्ष कुलवीर छाबड़ा, समेत तमाम कांग्रेस दुकानें बंद करवाते नजर आए।

राजनांदगांव में बंद का व्यापक असर देखने को मिल रहा है । यहां चेंबर ऑफ कॉमर्स ने दोपहर 2 बजे तक पूरे शहर में तमाम व्यवसायिक संस्थानों को बंद रखने का फैसला लिया है । फिलहाल शहर में छोटे-छोटे होटल पान ठेले ही खुले नजर आए। सुबह से ही महापौर हेमा देशमुख, शहर कांग्रेस अध्यक्ष कुलवीर छाबड़ा, समेत तमाम कांग्रेस दुकानें बंद करवाते नजर आए।

बस्तर में बंद का व्यापक असर देखने को मिल रहा है। यह फोटो दोरनापाल की है। यहां सुबह से ही दुकानें बंद हैं और सड़कों पर सन्नाटा पसरा है। बस्तर में बंद का व्यापक असर देखने को मिल रहा है। यह फोटो दोरनापाल की है। यहां सुबह से ही दुकानें बंद हैं और सड़कों पर सन्नाटा पसरा है।

महासमुंद में सुबह से ही शहर की सड़कें सूनी हैं। कांग्रेस और किसान संगठन के साथ आम आदमी पार्टी के नेता व्यवसायिक संस्थानों और बाजारों को बंद करवाने निकले हैं। कांग्रेसी नेताओं ने मोदी सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और खुद को किसानों के साथ बताया। चेंबर ऑफ कॉमर्स ने भी महासमुंद में तमाम व्यवसायिक संस्थानों को बंद रखने के लिए अपना समर्थन दिया है। फिलहाल शहर में पेट्रोल पंप , सब्जी दुकान और दवा दुकानें खुली हैं।

छत्तीसगढ़ चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज, छत्तीसगढ़ ऑटो यूनियन, रायपुर बस्तर परिवहन संघ, समस्त ट्रेड यूनियन, छत्तीसगढ़ ट्रक एसोसिएशन, छत्तीसगढ़ पेट्रोल एवं डीजल यूनियन , राजनैतिक दलों में भारतीय कांग्रेस पार्टी, आम आदमी पार्टी, सीपीआई, सीपीआईएम, सीपीआईएमएल, जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ का भी समर्थन मिल गया है।

दिल्ली , हरियाणा बॉर्डर पर पिछले लगभग 15 दिनों से देश भर के तमाम किसान प्रदर्शन कर रहे हैं । इनकी मांग है कि केंद्र सरकार की तरफ से लाए गए नए कृषि कानूनों को वापस लिया जाए और एमएसपी पर ही मंडी के अंदर या बाहर खरीदी के नियम को लागू किया जाए । इन्हीं बातों को लेकर किसान संगठनों और केंद्र सरकार के बीच ठनी है। जिसकी वजह से आज पूरा भारत किसान संगठनों ने बंद कराया है। देश के तमाम विपक्षी दलों ने इसे अपना समर्थन भी दिया है।

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.