भीमराव आंबेडकर द्वारा लिखित भारतीय संविधानपुस्तक की मूल प्रति अब सभी विश्वविद्यालयों व कालेजों में रखना अनिवार्य

बिलासपुर. गवर्नमेंट एम्पलाइज वेलफेयर एसोसिएशन छग के प्रांताध्यक्ष कृष्णकुमार नवरंग ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को दिनांक 30 नवम्बर 2019 को ज्ञापन सौंप कर मांग किया गया था कि विश्व रत्न डॉ भीमराव अंबेडकर द्वारा लिखित भारतीय संविधान की मूल प्रति राज्य के सभी विभागों, कार्यालयों, कालेजों, विश्वविद्यालयो, ग्रंथालय व स्कूल शिक्षा के ग्रन्थालय में रखी जाने अनिवार्य किये जाने की मांग की गई थी। ज्ञात हो अभी तक सभी जगह अन्य लेखकों द्वारा लिखित भारतीय संविधान की पुस्तकों को रखी जाती थी।


मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देशानुसार छ ग शासन के ओएसडी सूरजकुमार कश्यप के हस्ताक्षर से जारी पत्र दिनांक 17 दिसम्बर2019 अनुसार सचिव, भारसाधक अधिकारी सामान्य प्रशासन विभाग मंत्रालय छग को निर्देशित कर 15 दिवस में कृत कार्यवाही से अवगत कराने कहाँ। उक्त पत्र के परिपालन में अवर सचिव उच्च शिक्षा, मंत्रालय के निर्देश पर कार्यालय आयुक्त उच्च शिक्षा, इंद्रावती भवन नवा रायपुर अटल नगर ने छग के अपर संचालक डॉ. एच् समकर के हस्ताक्षर से जारी पत्र में राज्य के सभी कुलपति व प्राचार्य को पत्र क्र 728/01/11/आ उ शि/सम/2020/नवा रायपुर अटल नगर दिनांक 30 सितंबर 20 द्वारा निर्देशित कर तत्काल ख़रीदी कर रखने का निर्देश दिया है ।


मुख्यमंत्री के निर्देश से अब राज्य के सभी शिक्षण संस्थान व कार्यालयों विभागों में डॉ. भीमराव अंबेडकर के लिखित संविधान की मूल प्रति रखने से उनके सम्मान और मेहनत सहित योगदान से उनके अनुयायी व संविधान में निहित प्रावधानों, प्रस्तावनामूल अधिकार, कर्तव्य व नीति निर्देशक तत्व,अधिकार से सभी छात्र व अध्ययन में रूचि रखने वाले नागरिक को प्रेरणा मिलेगी। मुख्यमंत्री के इस लगाव व निर्देश पर संघ के प्रांतीय उपाध्यक्ष भोला राम मरकाम ,सचिव राधेश्याम टंडन, महामंत्री रामकुमार ठाकुर, प्रवक्ता नरेंद्र जांगड़े, कोषाध्यक्ष दिनेश घोषले, एमके राणा, बसंत जांगड़े ,कुरेटि, कुंदन रत्नाकर, खेम सिंग बारले परस अंचल, ढ़िढ़ि, सनत बंजारे, एवन बंजारे सहित सभी जिलाध्यक्ष व ब्लाक अध्यक्ष व पदाधिकारियों ने आभार प्रकट किया है।

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.