बिजली विभाग के ठेकेदार को जंगलों से आया फोन, संगठन के नाम पर मांगे इतने करोड़ रूपए

रायपुर. रायपुर के ठेकेदार को नक्सल संगठन के नाम पर धमकी भरे फोन आए हैं। फोन करने वाले ने नक्सल संगठन के लिए फंड देने की बात कही। ठेकेदार से 10 करोड़ रुपए मांगे जा रहे है। उन्हें धमकाया जा रहा है। रविवार को इस मामले में शिकायत रायपुर पुलिस से की गई। सरस्वती नगर थाने में पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज की है। अब सायबर सेल और नक्सल ऑपरेशन टीम की मदद से इस केस की छानबीन की जा रही है।

नमिश भोजासिया ने पुलिस को बताया कि वो विद्युत विभाग में ठेकेदारी का काम करता है। एक नंबर से उसे फोन आया। कॉल करने वाले ने खुद को पिपुल्स लिब्रेशन फ्रंट आफ इंडिया से जुड़ा होना बताया। वॉट्सएप पर इसी संगठन के लेटरपैड पर एक खत भेजकर 10 करोड़ रुपए देने के लिए कहा गया।

इसके बाद वॉट्सएप पर विडियो कॉल् आया। इसे रिसीव करने पर कुछ लोग, जंगल और बंदूकें दिखाई दे रही थीं। यह देखते ही नमिश ने फोन कट कर दिया। फिर कारोबारी को किसी ने ऑडियो मैसेज भेजा। इसमें रुपए ना देने पर देख लेने की बात कही गई थी। चर्चा है कि विद्युत विभाग के किसी घोटाले का जिक्र कर नक्सल संगठन के नाम से कारोबारी को फोन आ रहे हैं। केस में नक्सलियों का इनपुट होने की वजह से अब इस मामले की तह तक जाने का काम पुलिस कर रही है।

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.