बाबा गुरूघासीदास जी के बताये मार्ग पर चल कर छत्तीसगढ़ आर्थिक और सामाजिक विकास का बनेगा रोल माडल : भूपेश बघेल

1 min read

बिलासपुर. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि छत्तीसगढ़ गुरू घासीदास जी की बताये गये सत्य अहिंसा, भाई चारा, बंधुत्व और समानता जैसे मार्गो पर चल कर छत्तीसगढ़ तीव्र गति से विकास की दिशा में आगे बढ़ रहा है। आने वाले समय में भी गुरूघासीदास के बताये गये मार्ग में चलकर ही छत्तीसगढ़ आर्थिक और सामाजिक विकास का रोल मंडल बनेगा। मुख्यमंत्री श्री बघेल आज 18 दिसम्बर को बाबा गुरू घासीदास जी की जयंती गुरू पर्व के अवसर पर सर्व समाज के आस्था और श्रद्धा के केंद्र मुंगेली जिले के अमरटापू की पावन धरा में यह बात कहीं। इसके पूर्व उन्होने गुरूघासीदास जयंती के लिए लोगों को अपनी बधाई और शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री बघेल ने अमरटापू धाम को पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित करने, मंगल भवन निर्माण के लिए 50 लाख रूपये तथा ग्राम जमकोर से सूरजपूरा तक सड़क मार्ग का उन्नयन करने की घोषणा की।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि पूरे छत्तीसगढ़ में 18 दिसम्बर गुरूघासीदास जी की जयंती को श्रद्धा और आदर और उत्साह पूर्ण वातावरण में मनाया जा रहा है। उन्होने कहा कि सत्य ही मानव का आभूषण है। उन्होने सत्य के संदेश को अपने आचरण में उतार कर संतगुणी और संतज्ञानी बनने तथा नारी सम्मान एवं पशुओं से प्रेम करने की बात कहीं।

कहा कि बाबा गुरूघासीदास ने ऊॅच-नीच के भेद-भाव को मिटाने के लिए सामाजिक समरसता का संदेश दिया है और उनका संदेश आज भी प्रासंगिक है। उन्होने मनखे-मनखे एक समान का संदेश देकर विभिन्न समाजो को एक माला में पीरोने का कार्य किया है। उन्होने कहा कि हमारी सरकार ने बाबा जी के सत्य के रास्ते पर चलने के उपदेश को आधार मानकर कार्य कर रही है और उनका संदेश हमारे लिए आज भी मार्गदर्शी आधार है। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि गुरूघासीदास जी की प्रेरणा से ग्राम मोतिमपुर अमरटापू धाम में प्रतिवर्ष 18 दिसम्बर को गुरूघासीदास जयंती का आयोजन किया जाता है। जहां बडी संख्या में आम लोग शामिल होते है। अब मोतिमपुर अमरटापू धाम पर्यटन के क्षेत्र में विकसित होगा और अमरटापू धाम को पुरे छत्तीसगढ़ में जाना जाएगा।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि देश में अपने तरह की पहली अनूठी योजना गोधन न्याय योजना शुरू की गई है। जिसके तहत दो रूपये प्रति किलो के दर से गोठानों में गोबर की खरीदी की जा रही है। इस योजना के माध्यम से जैविक खेती, पशुओं की देखभाल के साथ फसलों की सुरक्षा सुनिश्चित हुई है। राज्य सरकार ने गोठानों में निर्मित वर्मी कम्पोस्ट की न्यूतम विक्रय दर को 8 रूपये से बढाकर 10 रूपये कर दिया है। खेतो में वर्मी कम्पोस्ट खाद के उपयोग से विभिन्न प्रकार की बीमारी से बचा जा सकता है। उन्होने कहा कि पशुधन की संरक्षण और संर्वधन के लिए गोठानों को सुव्यस्थित किया गया है। उन्होने पशुधन के लिए लोगों से पैरादान करने की अपील की। उन्होने कहा कि देश में लागू लाॅकडाउन के दौरान छत्तीसगढ़ के लगभग सात लाख प्रवासी श्रमिक सड़क और अन्य मार्गो से आ रहे थे। ऐसे समय में जनप्रतिनिधियों, अधिकारी-कर्मचारियों और सामाजिक संगठनों ने संगठित होकर प्रवासी श्रमिकों के लिए भोजन, पानी आदि की सुविधा उपलब्ध कराई गयी। जो तारीफ के काबिल है।

लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री गुरू रूद्र कुमार ने लोगों को बाबा गुरूघासीदास जी की जयंती गुरू पर्व पर सब को अपनी बधाई और शुभकामनाएं देते हुए कहा कि गुरूघासीदास ने सत्स, अहिंसा और सामनता का मार्ग बताया है। उन्होने सभी लोगों को गुरूघासीदास जी के बताये गये मार्ग और आदर्शो को आत्म सात करने की बात कहीं। श्री रूद्र कुमार गुरू ने कहा कि 2023 तक प्रत्येंक घर में नल जल कनेक्शन उपलब्ध होगा। नल जल कनेक्शन के माध्यम से लोगों को नियमित रूप शुद्ध पेयजल उपलब्ध होगा।

नगरीय प्रशासन मंत्री डाॅ. शिव डहरिया ने भी गुरूघासीदास जयंती समारोह गुरू पर्व को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि गुरूघासीदास ने समाज को आगे बढाने का कार्य किया है। मुख्यमंत्री श्री बघेल के सरकार द्वारा गुरूघासीदास जी के बताये गये मार्ग का अनुशरण कर गांव,गरीब और किसानों का समुचित विकास किया जा रहा है। डाॅ. डहरिया ने कहा कि गुरूघासीदास जी ने समाज में स्वाभिमान जगाने का रास्ता बताया। उन्होने कहा कि देश आजाद होने के बाद डाॅ. भीमराव अम्बेडकर को संविधान निर्माण की जिम्मेदारी दी गई थी। डाॅ. अम्बेडकर ने समानता, शिक्षा आदि के अधिकार को संविधान में शामिल किया। राज्य सरकार ने भी डाॅ. अम्बेडकर के द्वारा बनाये गये संविधान का पालन करते हुए सामाजिक समरसता के कार्य को आगे बढाया जा रहा है। उन्होने कहा कि सरकार बनने के पूर्व 36 घोषणा की गई थी।

इनमें से मुख्यमंत्री श्री बघेल द्वारा अब तक 24 घोषणा पुरा कर ली गई है। उन्होने कहा कि राज्य की पहली ऐसी सरकार है जिसने अपने गठन के तत्काल बाद पहला निर्णय किसानों के हित में लिया। उनके अल्पकालीन कृषि ऋण को माफ किया। धान की खरीदी 2500 रूपये में हो रही है। जलकर को माफ किया गया। उन्होने कहा कि राज्य में नरवा,गरूवा, घुरूवा,बारी योजना का संचालन किया जा रहा है। इन योजनाओं की चर्चा देश ही नही विदेश में भी हो रहा है। उन्होने जनसंख्या के मान से दी गयी आरक्षण की भी बात कहीं।

गुरूघासीदास जयंती समारोह को छत्तीसगढ़ राज्य पिछडा वर्ग आयोग के अध्यक्ष थानेश्वर साहू ने भी संबोधित किया। उन्होने कहा कि गुरूघासीदास ने सामाजिक समरसता और आपसी भाई चारा का संदेश दिया है। वह आज भी प्रसंगित है। उन्होने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री बघेल छत्तीसगढ़ को विकास की ओर तीव्र गति से आगे ले जा रहा है। इससे प्रदेश की आम जनता खुश है। अटल श्रीवास्ताव ने गुरूघासीदास जयंती समारोह को संबंोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री श्री बघेल जनता के हित में जो कहता है वह करके दिखाता है। उन्होंने मुख्यमंत्री श्री बघेल द्वारा छत्तीसगढ़ की खान-पान और संस्कृति को बढावा देने के लिए किये गये कार्यो का उल्लेख किया। इसके पूर्व गुरूघासीदास विकास समिति अमरटापू धाम के अध्यक्ष श्री दुर्गा बघेल और श्रीमति कृष्णा बघेल ने अथियों को प्रतीक चिन्ह भेंट कर स्वागत किया।

स्वागत भाषण गुरूघासीदास विकास समिति अमरटापू धाम के अध्यक्ष दुर्गा बघेल ने दिया। इस अवसर पर जिला पंचायत की अध्यक्ष श्रीमति लेखनी सोनू चंद्राकर, कलेक्टर पी. एस एल्मा, पुलिस अधीक्षक अरविद कुजूर, पथरिया जनपद पंचायत के अध्यक्ष ग्वाल दास अंनत पूर्व विधायक चुरावन मंगेश्कर, एवं चंद्रभान बारमते, और सियाराम कौशिक, भाटापारा विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक चैतराम साहू, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमति कृष्णा दुर्गा बघेल, जिला पंचायत सदस्य श्रीमति जागेश्वरी वर्मा, श्रीमति अम्बालिका साहू, लोकराम साहू, वशी उल्ला शेख, श्रीमति सीमा वर्मा, राजेन्द्र शुक्ला, प्रमोद नायक, राकेश पात्रे, सागर सिंह बैस, रेख चंद्र कोशले, साहू समाज के अध्यक्ष बंलदाउ साहू सहित बडी संख्या में ग्रामीणजन और अनुयायी उपस्थित थे।

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.