नेपोटिज्म को लेकर बोलीं प्रियंका चोपड़ा, ‘यहां हर कोई किसी न किसी की बेटी या अंकल है’

प्रियंका चोपड़ा को बॉलीवुड में एंट्री किए 15 साल बीत चुके हैं और वो अक्सर अपने शुरुआती दिनों के अऩुभवों के बारे में बात करती नजर आ जाती हैं. लेकिन इस बार प्रियंका चोपड़ा बॉलीवुड में मौजूद नेपोटिज्म को लेकर बात की है.

कंगना रनौत और करन जौहर की बीच एक चैट शो में नेपोटिज्म को लेकर शुरू हुई इस बहस में अब प्रियंका चोपड़ा भी शामिल हो गई हैं. प्रियंका ने इस पर बात करते हुए कहा, ”जब मैंने फिल्म इंडस्ट्री ज्वाइन की थी कब मैं एक ब्यूटी पेगेंट जीत कर आई थी और लोग मुझे पहचानते थे इसलिए मेरे लिए फिर भी शुरुआत थोड़ी आसान थी. मेरी कुछ शुरुआती फिल्मों से मुझे सिर्फ इसलिए बाहर कर दिया गया था क्योंकि मेरी जगह किसी एसे को दी जाती थी जिसे किसी न किसी ने रिकमेंड किया होता था. जो इंडस्ट्री में किसी की बेटी होती थी. मुझे लगता था कि काम मेरी काबिलियत के बल पर मिलता है और इसी कारण से ये किसी और को मिलता होगा.”

प्रियंका चोपड़ा ने कहा कि जब मैं बॉलीवुड में आई थी तो यहां सब किसी न किसी की बेटियां या किसी न किसी का कोई अंकल होता है. ऐसे में बिना किसी फिल्मी बैकग्राउंड के प्रोडक्शन हाउस में एंट्री पाना बेहद मुश्किल होता था. इस दौरान प्रियंका ने अपने प्रोडक्शन हाउस को लेकर बात करते हुए कहा कि उनके प्रोडक्शन हाउस में बनी सभी फिल्मों के डायरेक्टर्स नए थे. उन्होंने कहा कि उनका मानना है कि इंडस्ट्री में बॉक्स ऑफिस बहुत मायने रखता है लेकिन सबसे अहम कहानी होती है और हम इसे लेकर हमेशा सचेत रहते हैं.

प्रियंका से पहले आलिया भट्ट ने भी नेपोटिज्म पर बात करते हुए कहा था कि इंडस्ट्री में ये है और इससे इंकार नहीं किया जा सकता. साथ ही उन्होंने कास्टिंग काउच को लेकर भी कहा था कि इंडस्ट्री में कास्टिंग काउच है लेकिन मैं न्यूकमर्स से कहना चाहूंगी कि आप अपने टेलेंट पर यकीन रखें.

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.