नाज़ियों के हमले, प्लेन क्रैश और कैंसर-कोरोना को मात देने वाली महिला ने मनाया अपना 100वां जन्मदिन

1 min read

लंदन. जॉय एंड्रयू ने नाजी असैसनेशन देखा और फिर एक प्लेन क्रैश में बची. इसके बाद एंड्रयू ने कैंसर को मात दी. अब एंड्रयू ने कोरोना को हराकर अपना 100वां जन्मदिन मनाया है. 99 वर्षीय जॉय एंड्रयू जब मई में कोरोना वायरस से संक्रमित पाई गई तो उनकी देखभाल करने वाले केयर होम के कर्मचारियों की भी उम्मीद नहीं थी कि वे बच पाएंगी, इसिलए उनके परिवार को एंड्रयू के स्वास्थ्य को लेकर बुरी खबर के लिये तैयार रहने के लिये कहा गया था. लेकिन एंड्रयू ने कोरोना को मात दे दी.

जॉय एंड्रयू की 57 वर्षीय बेटी मिशेल एंड्रयू ने कहा कि उन्हें अपनी मां पर गर्व है. मिशेल ने कहा कि “उन्होंने अद्भुत जीवन जिया है और यह उपलब्धि उनकी शानदार लिस्ट में जुड़ चुकी है.” रविवार को जॉय एंड्रयू के 100वें जन्मदिन पर ब्रिटेन की क्वीन ने भी उन्हें विश कार्ड भेजा.जॉय एंड्रयू का जन्म 1920 में उत्तरी लंदन के यहूदी परिवार में हुआ और वहीं उनका पालन-पोषण हुआ. दूसरे विश्व युद्ध के दौरान वो महिला सहायक वायु सेना में शामिल हुईं और बॉम्बर कमांड में सर्विस की .

नाजी ड्राइवर ने की थी हत्या की कोशिश
एंड्रयू को डसेलडोर्फ में तैनात थी. जर्मनी में रहते हुए उसे एक ड्राइवर मिला था. मिशेल के अनुसार “एक दिन ड्राइवर ने कहीं जाते वक्त रास्ते में उन्हें जान से मारने की कोशिश की. ड्राइवर ने जानबूझकर कार को दुर्घटनाग्रस्त कर दिया. ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया गया और वह नाज़ी निकला. ”

कैंसर को भी दी मात
युद्ध के बाद एंड्रयू ने ब्रिटिश ओवरसीज एयरवेज कॉर्पोरेशन एयर होस्टेस की नौकरी की. एक उड़ान के दौरान विमान लीबिया में दुर्घटनाग्रस्त हो गया लेकिन एंड्रयू इसमें भी बच गई.1970 के दशक में एंड्रयू स्तन कैंसर से हो गया लेकिन एंड्रयू ने इसको भी मात दे दी. उनके पति डेविड एंड्रयू की 2013 में कैंसर से मृत्यु हो गई. एंड्रयू डिमेंशिया से पीड़ित है और न्यूयॉर्क में मिनस्टर ग्रेंज केयर होम में रहती हैं.

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.