देखें VIDEO : नेता बोल रहे है चाहे मंगलसूत्र बेचो या फिर चोरी करो लेकिन पैसा देना होगा – मिनीमाता बस्ती बचाओ संघर्ष समिति

1 min read

बिलासपुर. मिनीमाता बस्ती बचाओ संघर्ष समिति सदस्यों ने बुधवार को तालापारा तालाब के पास ही धरना देते हुए बस्ती के लोगों ने अपनी बात कही. उन्होंने अपने आंदोलन को तेज करने की रणनीति बनाते हुए आंदोलन को कलात्मक ढंग से आगे ले जाने का निर्णय लिया.

धरना सभा में मौजूद सदस्यों ने कहा कि इस बस्ती को राजीव गांधी जी के नाम पर बसाया गया था. आज उसी बस्ती के लोगों को कहा जा रहा है कि चाहे मंगलसूत्र बेचो या फिर चोरी करो, लेकिन पैसा देना होगा और बस्ती टूटेगी ही. युवा साथी संजीत ने कहा कि हमें अपने आंदोलन की ताकत बढ़ानी होगी और हर दिन समय के साथ-साथ संख्या पर भी ध्यान देना होगा. युवा साथी विजय शंकर पात्रे ने कहा कि सरकार हमेशा गरीबों और दलितों की ही बस्तियों को क्यों टारगेट करती है. इस दौरान प्रियंका शुक्ला ने सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि सरकारें क्यों नहीं साफ-साफ बताती कि आखिर किसको फायदा देने के लिए बस्ती तोड़ने वाले है, यदि तालाब की बात है तो सरकार सबसे पहले रजबंधा तालाब पर जो दफ्तर बने हुए है, उन्हें कब खाली कराने पहुच रहे है.

इस दौरान बस्ती के लोगों ने गांधी जी, भगत सिंह, मिनीमाता, पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी, गुरुघासीदास जी, सावित्री बाई फुले, फातिमा शेख आदि तमाम महान लोगों को याद किया और श्रद्धांजलि अर्पित की. इस अवसर पर सभा में काला फ़िल्म जो कि बस्ती बचाने की लड़ाई के संघर्ष पर आधारित है, उसको दिखाए जाने का प्रस्तावित किया। जिसको सभी ने सहमति प्रदान की. सभा का समापन जनसंघर्ष के गीत और गांधी जी के रघुपति राघव राजा राम भजन गाकर किया गया.

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.