दिल्ली मेट्रो और कुंभ मेले में सेवा दे चुके 8 कुत्तों को CISF ने दी विदाई

1 min read

नई दिल्ली. पिछले दस सालों से दिल्ली मेट्रो की सुरक्षा और कुंभ मेले जैसे बड़े आयोजनों में सेवाएं देने के बाद सीआईएसएफ के कैनाइन-स्कॉवयड के 08 डॉग्स को राजधानी दिल्ली में आज एक समारोह में विदाई दी गई. सीआईएसएफ के मुताबिक, इन आठ कैनाइन्स ने पिछले दस‌ सालों में सैकड़ो बार दिल्ली-मेट्रो की सुरक्षा में एंटी-सैबोटाज़ ऑपरेशन में हिस्सा लिया.

सीआईएसएफ के मुताबिक, मेट्रो रेल की सुरक्षा में ये सभी डॉग्स अपने हैंडलर्स के साथ रेल-पटरी की सुरक्षा, संदिग्ध बैग, नारकोटिक्स और एंटी-टेरर ड्रिल में हिस्सा लिया था.

सीआईएसएफ के स्वान-दस्ते में शामिल इन कैनाइन्स ने अपनी सेवाओं के दौरान राजधानी दिल्ली में गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस के मौके पर भी अलर्ट्स के दौरान राजधानी को सुरक्षित रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. सके अलावा वर्ष 2018 में प्रयागराज में हुए महाकुंभ मेले में भी इन दो स्वान्स (कैनाइन) ने अपनी सेवाएं दे थी. पिछले साल राजधानी दिल्ली में हुए सिक्योरिटी-एक्सपो की सुरक्षा में भी इस दस्ते के डॉग्स तैनात किए गए थे.

सीआईएसएफ के मुताबिक, 8-10 साल की सेवाओं के बाद स्वान-दस्ते कए डॉग्स को रिटायरमेंट दे दिया जाता है और क्योंकि एक वफादार जानवर की तरह इन आठों डॉग्स ने राजधानी दिल्ली और देश को सुरक्षा प्रदान करने में अहम भूमिका निभाई थी इसलिए उनके रिटायरमेंट के लिए विदाई-समारोह आयोजित किया गया. रिटायर होने वाले डॉग्स में दो जर्मन शेफर्ड हैं, पांच लेबराडोर और एक कोकर स्पेनियल है.

लेबराडोर-जेंसी, लूसी (26 जनवरी परेड सुरक्षा), ब्लैकी (कुंभ मेला), कुसती (कुंभ मेला), लिली (26 जनवरी और 15 अगस्त अलर्ट के दौरान सेवाएं दी)

जर्मन शेफर्ड–रोज़ी और ट्वी की

कोकर-स्पेनयिल-मिनी (आल इंडिया पुलिस-मीट और सिक्योरिटी-एक्सपो) इन सभी डॉग्स को विदाई समारोह के बाद एक एनजीओ के हवाले कर दिया गया.

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.