जोगी अभी जिन्दा है : रिजवी

File Photo

रायपुर. जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के मीडिया प्रमुख, मध्यप्रदेश पाठ्यपुस्तक निगम के पूर्व अध्यक्ष, पूर्व उपमहापौर तथा वरिष्ठ अधिवक्ता इकबाल अहमद रिजवी ने पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी एवं छत्तीसगढ़ महतारी की प्रतिमाओं का विरोध को सरकार की कुंठा का प्रतीक निरूपित करते हुए कहा है कि *‘‘उन्हीं के आशियां एै बागवाँ तूने जलाए है कि जिनका खून भी शामिल है तामीरे गुलिस्ताँ में।’’* कार्यक्रम में हजारों की संख्या में उपस्थित जोगी प्रेमियों को निराशा हुई है। भविष्य में भी प्रत्येक जिला मुख्यालय में प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी एवं छत्तीसगढ़ महतारी की प्रतिमाओं की स्थापना का निर्णय जकांछ ने लिया है। जोगी एवं छत्तीसगढ़ महतारी की प्रतिमा की स्थापना में रूकावट उत्पन्न करना कांग्रेस को भारी पड़ेगा तथा परिणाम आगामी चुनाव में दिखेगा। जोगी ने जे.सी.सी. (जे) को स्थानीय दल के रूप में मान्यता दिलाकर दिखा दिया कि प्रदेश की जनता उनके साथ है और आगे भी जनता यह दिखा देगी की जोगी अभी जिंदा है। प्रदेश ने क्षेत्रीय दल को सत्ता सौपने का मन बना लिया है क्योंकि प्रदेश की सभी समस्याओं का समाधान यहीं पर तत्काल हुआ करेगा। कांग्रेस व भाजपा के समान हाईकमान के निर्णय के लिए इन्तजार नहीं करना पड़ेगा। रिजवी ने कहा है कि *प्रदेश सरकार बताए कि इस शर्मनाक घटना का दोषी कौन है। किसके इशारे पर यह शर्मनाक हरकत हुई। मुख्यमंत्री इसकी जांच करवायें तथा इस घटना का सूत्रधार कौन है उसका नाम प्रदेश की जनता जानना चाहती है।* मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल एवं क्षेत्रीय विधायक सत्यनारायण शर्मा जी इस घटना पर अपनी प्रतिक्रिया जारी करने का कष्ट करें।     

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.