जैक-मा के अलीबाबा ग्रुप की मुश्किल बढ़ी, एकाधिकार के मामले में चीन ने दिए जांच के आदेश

1 min read

नई दिल्ली. चीन ने अलीबाबा के खिलाफ एक मामले में जांच शुरू की है. चीन में ये जांच अलीबाबा की ओर से किए गए एक संदिग्ध एकाधिकारवादी व्यवहार के लिए शुरू की है. चीन में ऑनलाइन वित्तीय सेवा फर्म अलीबाबा के खिलाफ इस संदिग्ध मामले को लेकर कुछ ही दिनों में ग्रुप के साथ बैठक भी की जाएगी.

दरअसल, नियामकों ने पहले अलीबाबा को ‘दो में से एक चुनने’ की प्रैक्टिस के बारे में चेतावनी दी थी. इसके जरिए कारोबारियों को अपने प्रतिद्वंद्वी प्लेटफार्मों पर प्रोडक्ट बेचने से रोकने के लिए एक खास तरह के सहयोग संधि पर हस्ताक्षर करना होता है. राज्य प्रशासन बाजार विनियमन (SAMR) के मुताबिक अलीबाबा के खिलाफ ‘दो में से एक चुनने’ की प्रैक्टिस में जांच शुरू की गई है.

अब इस मामले में वित्तीय नियामक की ओर से अलीबाबा से जुड़े एंट ग्रुप के साथ बैठक की जाएगी. एंट ग्रुप चीनी अलीबाबा समूह की एक संबद्ध कंपनी है. इस मामले में एंट ग्रुप ने कहा कि नियामकों की ओर से उसे नोटिस मिला है. इसका गंभीरता से अध्ययन किया जाएगा. वहीं नियामकों की जरूरी आवश्यकताओं को पूरा किया जाएगा. हालांकि अलीबाबा ने इस मामले में कुछ भी कहने से मना कर दिया है.

दूसरी तरफ चीन के अखबार पीपुल्स डेली ने इस मामले में कहा है कि निष्पक्ष प्रतिस्पर्धा बाजार अर्थव्यवस्था का मूल हिस्सा है. संसाधनों के एकाधिकार से अन्य कंपनियों और उपभोक्ताओं के हितों को नुकसान पहुंचाता है. कंपनियों को सरकार की ओर से बनाए गए नियम और कानून का पालन करना चाहिए. अखबार की ओर से कहा गया है कि एकाधिकार से कारोबार का विकास सही तरीके से नहीं होता है.

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.