जनता कांग्रेस में हुआ बदलाव : रेणु जोगी बनीं जकांछ प्रमुख, पढ़े क्या बोले अमित जोगी

1 min read

रायपुर. स्थापना के चार साल के भीतर बिखराव के खतरों से घिरी जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ में बदलाव शुरू हो चुका है। बुधवार को दोपहर बाद शुरू हुए पार्टी अधिवेशन के दौरान पार्टी ने पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की पत्नी और कोटा विधायक डॉ. रेणु जोगी को अपना नया राष्ट्रीय अध्यक्ष चुन लिया। रेणु जोगी ने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा से हमारा अपमान किया है। कांग्रेस विधायक रहते हुए मेरा अपमान किया। स्वर्गीय जोगी का अपमान किया लेकिन हमारे दिल मे सबके लिए प्रेम है।

रेणु जोगी ने कहा कि हम पुरानी बातों में नहीं जाना चाहते हैं। उन्होंने कहा, 2023 में हम छत्तीसगढ़वासियों की सरकार बनाकर जोगी जी को अधूरे सपने को पूरा करने का संकल्प लेते हैं। जकांछ के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी ने कहा कि अगले तीन साल निर्णायक रहेंगे। सत्ता के गुरुत्वाकर्षण के कारण संघर्ष के हमारे सैकड़ों साथी, विशेषकर प्रथम पंक्ति के नेता, कांग्रेस में वापस लौट चुके हैं। ये बेहद स्वाभाविक सी बात है और इस से हमें निराश नहीं होना चाहिए। जो चले गए हैं, उनके साथ मेरे दलीय तो नहीं लेकिन दिली संबंध बरकरार रहेंगे।

अमित जोगी ने कहा कि पार्टी का भविष्य आज उन लोगों के कंधे पर हुआ टिका है जो केवल स्वर्गीय अजीत जोगी जी के प्रति अपनी वैचारिक प्रतिबद्धता के कारण पार्टी से आज भी जुड़े हैं। उन्होंने कहा कि अब पार्टी के ‘वैचारिक शुद्धिकरण का समय आ गया है। अब जयचंदों, मीरजाफरों और सत्ता-लोभियों की कोई जगह नहीं होगी। अधिवेशन में जकांछ के सीनियर विधायक धर्मजीत सिंह ने नेताओं से दो टूक कह दिया कि जिसे पार्टी छोड़कर जाना हो वह चला जाए। साथ होने का दिखावा करने के बाद जब कोई जाता है तो दु:ख होता है। उन्होंने कहा, जनता कांग्रेस का साथ छोड़कर जो लोग भी कांग्रेस में गए हैं उनकी हालत जाकर देख लीजिए। वे न तो घर के रहे न तो घाट के। वहीं धर्मजीत सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ को छोड़कर पूरे देश मे कांग्रेस का बुरा हाल है। कांग्रेस ने हाथी को बीमार कर दिया, साईकिल को पंचर कर दिया, लालटेन को बुझा दिया। कार्यकर्ता बस तीन साल तक धैर्य रखें जनता कांग्रेस भविष्य में यहां सरकार बनाएगी।

धर्मजीत सिंह ने विधायक पार्टी से विद्रोह करने वाले दोनों विधायकों देवव्रत सिंह और प्रमोद शर्मा पर भी तंज कसा। उन्होंने कहा, आप हमारे परिवार के सम्माननीय सदस्य हैं कांग्रेस के माया जाल में न फंसे, ना उधर के रहेंगे ना इधर के। साथ में आइए मिलकर काम करेंगे।  मरवाही विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा के मंच पर नजर आए पूर्व विधायक और जकांछ विधायक दल के सचिव आरके राय पार्टी अधिवेशन में नहीं पहुंचे। उन्होंने पहले ही भाजपा में शामिल होने की बात कह दी है। चुनाव अभियान के दौरान भाजपा के साथ गठबंधन में मुख्य भूमिका निभाने वाले धर्मजीत सिंह ने कहा, ना मैं कांग्रेस में जाऊंगा और ना भाजपा में जाऊंगा। मैं जोगी परिवार के साथ जनता कांग्रेस में रहूंगा।

पार्टी अधिवेशन में 9 दिसम्बर से वृहद ऑनलाइन सदस्यता अभियान शुरू करने का प्रस्ताव पारित किया है। इसके जरिए पार्टी एक लाख 11 हजार 111 प्रशिक्षित कार्यकर्ता तैयार करने की कोशिश कर रही है। अमित जोगी ने इसके लिए 90 दिन का समय निर्धारित किया है। पुराने मोर्चा संगठनों की जगह अब अजीत जोगी किसान मोर्चा, अजीत जोगी महिला मोर्चा, अजीत जोगी युवा मोर्चा, अजीत जोगी छात्र मोर्चा, और अजीत जोगी श्रमिक मोर्चा बनाए गए हैं। पार्टी ने क्रमबद्ध तरीके से 4 अलग-अलग चरणों में पूरे प्रदेश की पदयात्रा करने का संकल्प लिया है। इसकी अंतिम रूप-रेखा की 18 दिसम्बर को विधिवत घोषणा की जाएगी। जनता कांग्रेस ने बुधवार के अधिवेशन में तय किया, पार्टी के खैरागढ़ विधायक देवव्रत सिंह और बलौदा बाजार विधायक प्रमोद शर्मा से इस्तीफा मांगेगी। इसके लिए पार्टी कार्यकर्ता दोनों क्षेत्रों में विधायक इस्तीफा दो नाम से हस्ताक्षर अभियान चलाएंगे।

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.