क्या है कॉमन मोबिलिटी कार्ड? जिसे दिल्ली मेट्रो के लिए जारी करेंगे पीएम मोदी

1 min read

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 28 दिसंबर को देश की पहली पूर्ण-स्वचालित चालकरहित ट्रेन सेवा को हरी झंडी दिखाएंगे जो दिल्ली मेट्रो की मजेंटा लाइन पर होगी. इसके साथ ही पीएम नरेंद्र मोदी दिल्ली मेट्रो की एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन पर यात्रा के लिए नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड (एनसीएमसी) भी 28 दिसंबर को जारी करेंगे.

डीएमआरसी के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 37 किलोमीटर लंबी मजेंटा लाइन पर देश की अब तक की पहली पूर्ण-स्वचालित चालकरहित ट्रेन सेवा को हरी झंडी दिखाएंगे. इसके अलावा 23 किलोमीटर लंबी एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन (नई दिल्ली से द्वारका सेक्टर 21 तक) पर यात्रा के लिए पूरी तरह परिचालन वाले नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड (एनसीएमसी) को भी जारी करेंगे.

क्या है नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड?
डीएमआरसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि दोनों कार्यक्रमों, चालक रहित ट्रेन को हरी झंडी दिखाने और एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन पर एनसीएमसी की शुरुआत वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से होगी. बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मार्च 2019 में स्वदेसी एनसीएमसी पेश किया था, ताकि लोग देश भर में मेट्रो और बस सहित विभिन्न प्रकार के परिवहन शुल्क का इसके जरिए भुगतान कर सकें.

दरअसल, सफर में पैसों की सुरक्षा काफी जरूरी होती है. जब अलग-अलग ट्रांसपोर्ट का इस्तेमाल किया जाता है तो अलग-अलग जगह भुगतान करना भी काफी झंझट भरा लगता है. इसमें वक्त भी काफी चला जाता है. वहीं पैसों की सुरक्षा, अलग-अलग जगह बार-बार भुगतान करने से बचने और समय की बचत के लिए नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड को लाया गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2019 में गुजरात के अहमदाबाद में इस कार्ड को लॉन्च कर चुके हैं.

‘एक देश, एक कार्ड’ नाम से प्रसिद्ध एनसीएमसी कार्ड परिवहन के अनेक साधनों में मान्य कार्ड है. इससे देश में मेट्रो, बस सेवाओं के इस्तेमाल के लिए शुल्क अदा किया जा सकता है और टोल-पार्किंग आदि शुल्क का भुगतान भी किया जा सकता है. वहीं अब यह पहला मौका होगा जब यात्री दिल्ली मेट्रो के किसी भी मार्ग पर एनसीएमसी का उपयोग कर पाएंगे. इस कार्ड से पूरे देश में किसी भी सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था में सफर करने में आसानी होती है.

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.