कोड सिग्नल विवाद पर खुद के बचाव में उतरे इयोन मोर्गन, इससे हुए फायदे के बारे में बताया

1 min read

इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ आखिरी टी20 मुकाबले में कोड सिग्नल इस्तेमाल करने की वजह से विवादों में घिरे हुए हैं. मोर्गन हालांकि खुद ही अपने बचाव में उतर आए हैं और उनका कहना है कि ड्रेसिंग रूम से मैदान तक दिये जाने वाले रीयल-टाइम कोडेड सिग्नल का इस्तेमाल खेल भावना के अंतर्गत ही हैं.

इंग्लैंड के टीम विश्लेषक नाथन लिमन ने दक्षिण अफ्रीका में टी20 श्रृंखला के दौरान मैदान में मौजूद मोर्गन से संपर्क के लिये दो क्लिपबोर्ड को अंक और अक्षर लिखकर इस्तेमाल किया. इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने ड्रेसिंग रूम से सिग्नल के इस्तेमाल की आलोचना की लेकिन मोर्गन ने कहा कि इसमें कुछ गलत नहीं है. मोर्गन ने कहा, ”यह 100 फीसदी खेल भावना के अंदर है. इसमें कुछ भी अनुचित नहीं है. यह सूचना को बढ़ाना है जो कोचों की सलाह, डाटा और क्या चल रहा है, इनके खिलाफ देखने के लिये करते हैं.”

मोर्गन ने इस तरीके को आगे भी जारी रखने का दावा किया है. उन्होंने कहा, ”हम निश्चित रूप से इसे करना जारी रखेंगे और देखेंगे कि क्या इससे अंतर पैदा होता है, मैदान पर हमारे फैसले लेने या हमारे प्रदर्शन में, इससे सुधार होता है.”

मोर्गन ने साथ ही कहा कि ड्रेसिंग रूम से मदद लेना उनकी कप्तानी के लिये फायदेमंद है. कप्तान ने कहा, ”कप्तान अलग होते हैं. कुछ कप्तान खिताब, ताकत और प्रशंसा का सचमुच आनंद लेते हैं जबकि कुछ अन्य कप्तान होते हैं जो टीम की बेहतरी के लिये सीखना और आगे बढ़ना जारी रखना चाहते हैं.” बता दें कि पूरे क्रिकेट जगत में फिलहाल कोड सिग्नल के इस्तेमाल को लेकर बहस छिड़ गई है. इस विवाद के बीच इंग्लैंड की टीम दक्षिण अफ्रीका को तीन मैचों की टी20 सीरीज में 3-0 से मात देने में कामयाब रही.

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.