कांग्रेस विधायक कैलाश चंद्र त्रिवेदी का लंग फाइब्रोसिस से निधन, कुछ दिनों पहले कोरोना को दी थी मात

राजस्थान. कोरोना वायरस संक्रमण से ठीक होने के बाद कांग्रेस विधायक की मौत हो गई है. 65 वर्षीय कैलाश चंद्र त्रिवेदी लंग फाइब्रोसिस नामक बीमारी से जूझ रहे थे. पारिवारिक सूत्रों ने बताया कि उनकी मौत गुरुग्राम के एक अस्पताल में सोमवार देर रात हुई.

कोरोना वायरस संक्रमण से ठीक होने के बाद मौत

त्रिवेदी भीलवाड़ा के सहारा विधानसभा से कांग्रेस के टिकट पर विधायक चुने गए थे. 2 अक्टूबर को उनका स्वास्थ्य जब ज्यादा बिगड़ गया तब उन्हें एयर लिफ्ट कर जयपुर से गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल ले जाया गया. इससे पहले जयपुर में उन्हें कोरोना वायरस संक्रमण से ठीक होने के बाद स्वास्थ्य की पेचीदगियों के चलते एसएमएस अस्पताल में भर्ती किया गया था.

तीन बार विधायक रह चुके त्रिवेदी की मौत पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दुख जताया है. उन्होंने ट्वीट किया, “सहारा विधानसभा के जनप्रतिनिधि और कांग्रेस नेता कैलाश त्रिवेदी जी के निधन से गहरा सदमा पहुंचा है. उनके परिजनों और समर्थकों के प्रति मेरी संवेदना है. दुख की इस घड़ी में उनको बल मिले. भगवान दिवंगत की आत्मा को शांति दे.”

क्या है लंग फाइब्रोसिस?

लंग कैंसर और लंग फाइब्रोसिस जैसे रोग आज भी लाइलाज माने जाते हैं. लंग फाइब्रोसिस किसी प्रकार का कैंसर न होते हुए भी जानलेवा बन जाता है. हालांकि स्टेम सेल थेरेपी के जरिए बीमारी से पीड़ित व्यक्तियों के स्वास्थ्य को संभाला जा रहा है. स्टेम सेल थेरेपी मेडिकल साइंस में इलाज करने का नया तरीका है.

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.