अमेरिका की राजनीति में भारतीयों का दबदबा कायम, माला अडिगा बनीं जो बाइडेन की पत्नी की सलाहकार

1 min read

वाशिंगटन. अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव हाल ही में संपन्न हुए हैं. इसके साथ ही अमेरिका की राजनीति में भारतीयों का दबदबा लगातार बढ़ता जा रहा है. अब अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन ने भारतीय-अमेरिकी माला अडिगा को अपनी पत्नी जिल बाइडेन का नीति निदेशक नियुक्त किया है.

अमेरिका की अगली प्रथम महिला बनने जा रही जिल का ध्यान मुख्य रूप से शिक्षा पर केंद्रित है. इसलिए शिक्षा संबंधी नीति के संबंध में अनुभवी माला अडिगा को इस पद के लिए चुना गया है. अडिगा बाइडेन की 2020 प्रचार मुहिम की वरिष्ठ नीति सलाहकार और जिल की वरिष्ठ सलाहकार थीं. माला अडिगा पहले उच्च शिक्षा और सैन्य परिवारों की निदेशक के तौर पर बाइडेन फाउंडेशन के लिए भी काम किया है.

माला इससे पहले पिछले ओबामा प्रशासन में ‘ब्यूरो ऑफ एजुकेशनल एंड कल्चरल अफेयर्स’ में एकेडमिक कार्यक्रमों के लिए विदेश मंत्रालय में उपसहायक सचिव थीं और उन्होंने विदेश मंत्रालय के ‘ऑफिस ऑफ ग्लोबल विमेंस इश्यूज’ में चीफ ऑफ स्टाफ और विशेष दूत की वरिष्ठ सलाहकार के तौर पर भी जिम्मेदारी निभाई है. बता दें कि इससे पहले अमेरिका के हाल ही में खत्म हुए चुनाव में कमला हैरिस का दबदबा भी देखने को मिला था. कमला हैरिस ने हाल ही में अमेरिका के चुनाव में उपराष्ट्रपति के पद के लिए जीत हासिल की है. अमेरिका की नवनिर्वाचित उपराष्ट्रपति कमला हैरिस भी भारतीय मूल की हैं.

इन्हें भी मिलेगी व्हाइट हाउस में जगह

वहीं बाइडेन फाउंडेशन की कार्यकारी निदेशक रहीं लुइसा टेरेल को व्हाइट हाउस के विधायी मामलों के कार्यालय का निदेशक बनाया जाएगा. ओबामा प्रशासन में जिल बाइडेन के सामाजिक सचिव रहे कार्लोस एलिजोंदो व्हाइट हाउस के सामाजिक सचिव होंगे. राजदूत कैथी रसैल को व्हाइट हाउस कार्यालय में राष्ट्रपति के कार्मिक मामलों का निदेशक बनाया जाएगा.

Copyright © All rights reserved. | CG Varta.com | Newsphere by AF themes.